गर्भधारण से पहले जीवनशैली को स्वस्थ बनाने के लिए क्या करें

what lifestyle changes you need to conceive safely

जब आप मां बनने की योजना बनाती हैं तो यह आपकी जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण फैसला होता है। अगर आप ये फैसला ले चुकी हैं तो आपको ये सुनिश्चित करना चाहिए कि आप इस कदम को उठाने के लिए पूरी तैयार हैं। साथ ही आपको अपनी गर्भावस्था को स्वस्थ बनाने के प्रयास करने चाहिए। इससे पहले कि आप गर्भधारण करें, आपको अपनी अस्वस्थ जीवनशैली में कुछ जरुरी बदलाव करने होते हैं। अगर आप चाहती हैं कि आपको गर्भावस्था के दौरान किसी तरह की जटिलताओं का सामना ना करना पड़े तो आपको अच्छी और स्वस्थ जीवनशैली अपनाना जरुरी है। अगर आप स्वस्थ तरीके अपनाएंगी तो आपके लिए और आपके शिशु के सही विकास के लिए बेहतर होगा। आइए जानते हैं कि गर्भधारण से पहले जीवनशैली को स्वस्थ बनाने के लिए क्या करें। [ये भी पढ़ें: क्या आप गर्भावस्था के लिए शारीरिक रुप से तैयार हैं]

पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लें
जब आप बच्चे के लिए प्लानिंग कर रही हैं तो पोषित आहार लेना सबसे जरुरी है क्योंकि पोषक तत्वों का कमी के कारण आपको कई तरह की दिक्कतें हो सकती हैं। गर्भावस्था के दौरान, शरीर को अधिक पोषण की जरुरत होती है क्योंकि शिशु के शरीर के विकास के लिए पोषण चाहिए होता है। आप क्या खाती है और क्या पीती हैं, इसका असर आपके शिशु पर पड़ता है। आपका शिशु वहीं खाता है जो आप खाती हैं। इसलिए अपने आहार का चयन सोच-समझकर करें।

धूम्रपान और एल्कोहल का सेवन बंद कर दें
अगर आप नियमित रुप से धूम्रपान औक एल्कोहल का सेवन करती हैं तो जितना जल्दी हो सके इन्हें छोड़ दें। यह आपके शिशु के लिए बिल्कुल स्वस्थ नहीं है। धूम्रपान करने से आपकी प्रजनन क्षमता कम हो सकती हैं और इसके कारण गर्भपातै होने की संभावनाएं भी बढ़ जाती हैं। एल्कोहल का सेवन भी आपके शरीर पर बुरा प्रभाव डालता है। गर्भधारण से पहले इन बुरी आदतों को छोड़ने की कोशिश करें। [ये भी पढ़ें: पहले और दूसरे बच्चे के बीच कितने समय का अंतराल रखें]

वजन को नियंत्रित रखें
अपनी उम्र और लंबाई के मुताबिक, शरीर का वजन नियंत्रित रखें ताकि आगे चलकर आपकी गर्भावस्था में कोई परेशानियां ना आएं। सामान्य से ज्यादा वजन होने के कारण आपको गर्भावस्था के दौरान कई जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा मोटापा होने के कारण आपको नौ महीने तक शिशु को अपनी गर्भ में संभालने में भी दिक्कत होगी।

शारीरिक गतिविधियों में शामिल हो
शारिरिक गतिविधियों से ना केवल आप फिट रहेंगी बल्कि साथ ही आपको तनावमुक्त रहने में भी मदद मिलेगी। आप जब वर्कआउट करते है तो आपका शरीर तनावमुक्त होता है। शारीरिक व्यायाम आपके मूड को बेहतर करता है। आप शारीरिक व्यायाम में स्विमिंग, योगा, जॉगिंग, साइक्लिंग, जिमिंग आदि कर सकती हैं। [ये भी पढ़ें: 20-25 साल की उम्र में गर्भधारण करना क्यों है बेहतर]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "