गर्भधारण से पहले डाइट में क्या बदलाव करने हैं जरुरी

Read in English

क्या आप बच्चे के लिए प्लानिंग कर रहे हैं। अगर हां तो फिर यह समय है जब आपको अपने आहार और जीवन शैली में कुछ बदलाव और सुधार करने की जरुरत है। जब आप मां बनने जा रही हैं तो आपके शरीर को आने वाले शिशु के लिए उचित रुप से तैयार होने की आवश्यकता है। गर्भधारण के लिए आपके शरीर का पूरी तरह से स्वस्थ होना जरुरी है ताकि आगे चलकर शिशु और आपको किसी तरह की परेशानी ना हो। इसके लिए आपको हर दिन पोषक तत्वों से भरपूर और पौष्टिक भोजन करना चाहिए। इससे आपके गर्भधारण कर लेने के बाद गर्भ में शिशु का विकास बेहतर तरह से हो पाएगा। आइए जानते हैं कि गर्भधारण करने से पहले मां बनने जा रही महिला को अपनी डाइट में क्या बदलाव करने जरुरी हैं। [ये भी पढ़ें: स्वस्थ रूप से गर्भधारण करने के लिए अपनाएं ये टिप्स]

अच्छी डाइट में क्या खाएं: गर्भधारण करने के लिए अचानक पौष्टिक आहारों का सेवन और डाइट में बदलाव करना आपके लिए थोड़ा मुश्किल होगा इसलिए आपको अपने शरीर को नए बदलावों की आदत डालनी होगी। इसके लिए आप पहले से ही सही और संतुलित डाइट को फॉलो करना शुरु कर दें। इसके लिए निम्न टिप्स आपकी मदद करेंगे।

  • कम पौष्टिक आहार ना खाएं। इस तरह के खाद्य पदार्थ केवल आपके पेट को भरते हैं लेकिन शरीर को इनसे पूर्ण पोषण नहीं मिलता है। बल्कि इन्हें खाने से आपके शरीर में फालतू फैट जमा हो सकता है।
  • नियमित आहार का पालन करें। समय पर भोजन खाएं और थोड़े-थोड़े समय में थोड़ा-थोड़ा भोजन करें।। यदि आपका डाइटीशियन आपको स्नैक्स छोड़ने के लिए कहता है, तो ऐसा ही करें। मैन मील्स ना छोड़े क्योंकि इन्हीं के जरिए आपको सारा पोषण मिलता है। [ये भी पढ़ें: गर्भधारण करने के लिए कुछ महिलाओं को ज्यादा समय क्यों लगता है]
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं और स्टार्च की मात्रा वाले खाद्य पदार्थ अपने खाने में शामिल करें। इन खाद्य पदार्थों में चावल, आलू, रोटी और पास्ता आदि शामिल हैं। प्रत्येक मील के साथ इनकी पर्याप्त मात्रा लें।
  • दिनभर मे पांच प्रकार के प्रोटीन स्रोत जैसे फल और सब्जियों का सेवन करें।
  • आहार में कम वसा वाले डेयरी उत्पाद भी शामिल करें जैसे दूध, पनीर, दही आदि जिनसे आपकी कैल्शियम की जरुरत की पूर्ति हो सके।

क्या ना खाएं:

  • सबसे पहले धूम्रपान का सेवन करना छोड़ दें क्योंकि सिगरेट या धूम्रपान से आपके फेफड़े बुरी तरह से प्रभावित होते हैं। यदि आपकी श्वसन प्रणाली बेकार हो जाती है, तो 9 महीने के समय में शिशु को साँस लेने में दिक्कत हो सकती है।
  • जंक फूड और तेलयुक्त खाद्य पदार्थ आपके लीवर और पेट को नुकसान पहुंचाते हैं। इसलिए इनसे परहेज करें।
  • अधिक कैफीन, चाय आदि का सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। कैफीन आपके मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है जिससे अनिद्रा की समस्या हो सकती है। [ये भी पढ़ें: गर्भपात के बाद गर्भधारण के लिए टिप्स]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "