गर्भपात के बाद गर्भधारण के लिए टिप्स

Read in English
tips for how to Conceive After A Miscarriage

प्रेग्नेंसी के दौरान कई महिलाओं को गर्भपात भी हो जाता है। जिसकी वजह से महिलाएं दूसरे बच्चा होने की आशा खो देती है और डिप्रेशन में चली जाती हैं। महिलाओं के लिए इसे झेलना आसान नहीं होता है। लेकिन दूसरी बार गर्भधारण करने के बारे में सोचना शारीरिक और मानसिक दोनों रुप से अच्छा होता है। क्योंकि गर्भपात महिला को शारीरिक के साथ मानसिक रुप से भी प्रभावित करता है। दोबारा गर्भधारण करने के लिए आपको कुछ चीजों के बारे में ध्यान रखना जरुरी होता है ताकि पहले जैसी कोई गलती ना हो जाए। तो आइए आपको कुछ टिप्स बताते बैं जिनकी मदद से दोबारा गर्भधारण किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: गर्भधारण करने के लिए कुछ महिलाओं को ज्यादा समय क्यों लगता है]

टेस्ट: टेस्ट कराना बेहद जरुरी होता है। क्योंकि अगर आपका 3 या उससे ज्यादा बार गर्भपात हो चुका है तो दोबारा गर्भधारण करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरुरी होता है। यह जेनेटिक या कोई और समस्या भी हो सकती है। इसके लिए आप प्रोजेस्टेरोन थेरपी ले सकते हैं। यह एक हार्मोन को संतुलित करने की थेरेपी होती है जिससे गर्भधारण करने में आसानी होती है। इसके बाद आप कभी भी टेस्ट कर सकते हैं।

अपनी देखभाल करें: आशा खोने के बाद अपनी देखभाल करना बंद ना कर दें। यह मानसिक समस्या के लक्षण हो सकते हैं। चाहे कुछ भी हुआ हो आपको गर्भपात के बाद अपनी देखभाल करना बंद नहीं करना चाहिए। अगर जरुरत पड़े तो अपने अपने डॉक्टर से बात करें। देखभाल करने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर भोजन का सेवन करना शुरु कर दें। इसके अलावा बुरी आदतों को छोड़ दें। ताकि दोबारा गर्भधारण करने में कोई समस्या ना हो। [ये भी पढ़ें: स्वस्थ रूप से गर्भधारण करने के लिए अपनाएं ये टिप्स]

आशा ना खोएं: हमेशा ध्यान रखें किसी चीजे के जाने के बाद भविष्य में आपको कुछ ना कुछ अच्छा मिलेगा इसलिए आशा ना खोएं। दोबारा से गर्भधारण करने की सोचें। अगर आप दोबारा गर्भधारण कर चुकीं है और फिर भी गर्भपात के बारे में सोच रही हैं तो प्रेग्नेंसी के दौरान आप डिप्रेशन में जा सकती हैं। इसकी वजह से समस्याएं बढ़ सकती हैं। इसलिए हमेशा खुश और सकारात्मक रहें। बच्चे को सुरक्षित रहने के लिए आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए जरुरी होता है।

अपनी शारीरिक स्थिति पर भी ध्यान दें: अगर आपका थोड़े समय पहले गर्भपात हुआ है और आपकी शारीरिक स्थिति ठीक नहीं है तो इससे रिकवर होने के लिए थोड़ा समय लें। दोबारा गर्भधारण करने के लिए आपके शरीर का ठीक होना जरुरी होता है। अगर आपका गर्भपात जेनेटिक कारणों की वजह से हुआ है तो इसके इलाज के लिए डॉक्टर से बात करें। अगर इसका कोई इलाज ना हो तो खुद को मजबूत बनाकर बच्चे को गोद लेने के बारे में सोचें। [ये भी पढ़ें: आखिर किन कारणों से नहीं हो पाता गर्भधारण]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "