खुश रहने में मदद करते हैं ये डोपामाइन सुपरफूड

Dopamine Superfoods that Make You Happy

photo credit: shutterstock.com

व्यक्ति के खुश ना होने के पीछे का कारण डोपामाइन का लेवल कम होना होता है। डोपामाइन का लेवल कम होने से लगातार मूड बदलना, एकाग्र होना, थकावट, चिंता और वजन बढ़ाने की समस्या होती है। अगर आपको नाखुश और थका हुआ महसूस होता है तो आपके शरीर में डोपामाइन को बूस्ट करने की जरुरत होती है। न्यूरोट्रांसमीटर आपकी सतर्कता, सीखने, रचनात्मकता, संतोष, ध्यान और एकाग्रता के स्तर को निर्धारित करता है। इसके साथ ही यह आपके दिमाग की प्रक्रिया को प्रभावित करके भावनात्मक प्रतिक्रियाओं को कंट्रोल करता है। मानसिक स्वास्थ्य, हैप्पीनेस और मूड में बदलाव करने के लिए डोपामाइन सुपरफूड खाना सबसे बेहतर उपाय है। तो आइए आपको इन सुपरफूड के बारे में बताते हैं। ये भी पढ़ें: क्रेनबेरी का सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत जरुरी है]

1-सेब:
dopamine superfoods that make you happy सेब में क्यूरसेटिन एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो दिमाग के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करता है। क्यूरसेटिन न्यूरोडीजेनेरेटिव की रोकथाम करके डोपामाइन को उत्तेजित करने में मदद करता है। इसके साथ ही इसमें पॉलीफिनोल पाया जाता है जो डोपामाइन कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाता है। खुद को खुश रखने के लिए आपको रोजाना एक सेब छीलकर खाना चाहिए।

2-बादाम:
Dopamine Superfoods that Make You Happy हर तरह के नट्स डोपामाइन के लेवल को बढ़ाने में मदद करते हैं। बादाम में फिनालेल्नाइन जो कि एक अमीनो एसिड है पाया जाता है। फिनालेल्नाइन डोपामाइन के उत्पादन में मदद करता है। जो दिमाग और पूरे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। डोपामाइन के लेवल को बढ़ाने के लिए रोजाना कुछ बादाम का सेवन करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: अत्यधिक नींबू के सेवन से शरीर पर पड़ने वाले नकारात्मक प्रभाव]

3-डार्क चॉकलेट: तनाव को दूर करने, मूड ठीक करने के लिए लोग अक्सर चॉकलेट का सेवन करते हैं। चॉकलेट में फिनालेल्नाइन पाया जाता है जो डोपामाइन के उत्पादन में मदद करता है। अगली बार जब भी आपका मूड ऑफ हो तो डार्क चॉकलेट का सेवन करें। इसके साथ ही इस बात का ध्यान रखें आप ज्यादा चॉकलेट का सेवन ना करें क्योंकि इसमें शुगर और फैट होता है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।

4-अंडा:
Dopamine Superfoods that Make You Happyअंडे में उच्च मात्रा में अमीनो एसिड होता है जो डोपामाइन का उत्पादन बढ़ाकर मेटाबॉल्जिम को उत्तेजित करता है। इसके लिए आप रोजाना उबले अंडा या आमलेट बनाकर खा सकते हैं।

5-केला: केले में उच्च मात्रा में टायरोसिन होता है जो एक प्रकार का अमीनो एसिड होता है। यह डोपामाइन के लेवल को नियमित करने और उत्तेजित करने में मदद करता है। इसके साथ ही यह आपको खुश महसूस करने, मेमोरी बढ़ाने, ध्यान लगाने में मदद करता है। केले में कई पोषक तत्व होते हैं जो शरीर के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके लिए रोजाना एक केले का सेवन करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: भिंडी के स्वास्थ्यवर्धक लाभ]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "