सिर्फ बालों के लिए ही नहीं और भी कई समस्याओं में कारगर है नारियल तेल

amazing health benefits of coconut oil

नारियल तेल का उपयोग लंबे और चमकदार बालों के लिए किया जाता है। मगर इसमें कई और गुण मौजूद होते हैं जिनके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। यह एक सुपरफूड भी है जो कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में भी काफी कारगर होता है। नारियल तेल हेल्दी फैटी एसिड का सबसे अच्छा स्रोत है, जिसमें लगभग 90 प्रतिशत फैटी एसिड होता है। नारियल तेल में पाया जाने वाला सेचुरेटेड फैट आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। आइए जानते हैं नारियल तेल बालों को सुंदर बनाने के अलावा किन स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में कारगर साबित होता है।

1. मुंह की समस्याओं में कारगर:
आपके ओरल हेल्थ में सुधार के लिए नारियल तेल अत्यधिक प्रभावी होता है। नारियल तेल आपके मुंह में हानिकारक जीवाणुओं पर हमला करता है, जो दांत को सड़ने से बचाता है। इसके अलावा नारियल तेल दांतों में लगने वाले प्लॉक को भी कम करता है। [ये भी पढ़ें: चेहरे की सुंदरता बढ़ाने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय]

2. थायरॉयड में सुधार:
नारियल का तेल आपके थायरॉयड ग्रंथि में सुधार लाता है। यह उन लोगों के लिए विशेष रूप से अच्छा होता है जिन्हें हाइपोथायरॉयडिज्म है। नारियल तेल में मिडियम-चेन फैटी एसिड होता है जो थायरॉइड हार्मोन के उत्पादन को उत्तेजित करता है। मिडियम-चेन फैटी एसिड सेल मेंम्ब्रेन को फिर से निर्माण करने में मदद करता है और एंजाइम के उत्पादन को भी बढ़ाता है, जो टी 4 से टी 3 हार्मोन को बढ़ावा देने में सहायता करता है।

3. वजन कम करने में मदद करता है:
नारियल तेल से वजन घटाने में मदद मिलती है। नारियल तेल में मिडियम-चेन फैटी एसिड होता है। ये फैटी एसिड ज्यादा अन्य फैट की तुलना में ज्यादा घुलनशील होते हैं। इसका फायदा यह होता है कि ये जमा होने की बजाय सीधे कोशिकाओं में अवशोषित हो जाते है। जिससे आपके शरीर में फैट इकट्ठा नहीं होता और आपको वजन कम करने में मदद मिलती है।[ये भी पढ़ें: इन घरेलू उपायों से दूर होगी जी मिचलने की समस्या]

4. अल्जाइमर से लड़ता है:
नारियल तेल दिमाग के लिए भी फायदेमंद होता है और अल्जाइमर रोग को रोकने में मदद करता है। नारियल तेल में मौजूद मिडियम-चेन ट्राइग्लिसराइड्स केटोन बॉडी के रक्त स्तर में वृद्धि लाता है जो दिमाग को तेज करता है। इससे कॉगनिटिव परफॉर्मेंस और दिमाग की शक्ति में सुधार होता है। साल 2014 में जर्नल ऑफ अल्जाइमर रोग में प्रकाशित एक अध्ययन में यह बताया गया है कि नारियल तेल इन-विट्रो में कॉर्टिकल न्यूरॉन्स पर बीटा-एमीलॉयड पेप्टाइड्स के प्रभावों को प्रभावित करता है। बीटा-एमीलॉयड पेप्टाइड अल्जाइमर रोग सहित न्यूरोडिजेनेरेटिव रोगों का एक मुख्य कारण है।

5. एक्जिमा का इलाज करता है:
एक्जिमा की समस्या त्वचा पर होती है जिसे नारियल तेल के इस्तेमाल से ठीक किया जा सकता है। इसकी वजह से त्वचा पर कई परेशानियां उत्पन्न हो जाती है जैसे- सूजन, खुजली, लाल, फटी और रूखी त्वचा। नीरियल तेल में एंटीबैक्टिरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो त्वचा पर होने वाली समस्या से निजात दिलाने में मदद करता है। अपनी अंगुलियों पर नारियल तेल की कुछ बूंदें लें और उसे प्रभावित त्वचा पर लगाएं। कुछ मिनट के लिए धीरे-धीरे त्वचा पर रगड़ें। इस प्रक्रिया को दिन में 2 से 3 बार दोहराए। ऐसा करने से आपको राहत मिलेगी।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "