लंबाई बढ़ाने के लिए आजमाएं घरेलू उपाय

लंबाई आपकी पर्सनालिटी में सुधार कर सकती हैं जिससे आपको अच्छा महसूस होता है। जिन लोगों की लंबाई कम होती है उनका आत्मविश्वास हमेशा कम रहता है। किसी भी व्यक्ति की लंबाई उसकी आनुवांशिकता पर निर्भर करती है। लेकिन ऐसा सभी के साथ हो जरुरी नहीं है। हमारे शरीर में ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन (एचगीएच) होते हैं जो व्यक्ति की लंबाई को नियमित करते हैं। एचजीएच का उत्पादन पिट्यूटरी ग्रंथि के द्वारा होता है जो हड्डियों की ग्रोथ के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। जन्म के दौरान वजन कम होने का भी प्रभाव व्यक्ति की लंबाई पर पड़ता है। लंबाई को कुछ घरेलू उपायों की मदद से भी बढ़ाया जा सकता है। तो आइए आपको इन उपायों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: मुंह से शराब की बदबू कैसे दूर करें]

अश्वंगंधा का सेवन करें: आयुर्वेद के अनुसार अश्वगंधा लंबाई बढ़ाने में मददगार होता है। अश्वगंधा में कई मिनरल होते हैं जो हड्डियों के घनत्व को बढ़ाने में बढ़ाने में मदद करते हैं। जिससे लंबाई बढ़ने लगती है। इसका सेवन करने के लिए एक गिलास गर्म दूध में 2 चम्मच अश्वगंधा पाउडर और चीनी डालकर पिएं।

दूध पिएं:
how to increase height with the help of home remediesदूध में उच्च मात्रा में कैल्शियम होता है जो हड्डियों की ग्रोथ के लिए महत्वपूर्ण होता है। कैल्शियम लंबाई बढ़ाने में मददगार होता है। दूध में कैल्शियम, विटामिन और प्रोटीन होता है जो पूरे शरीर के विकास के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। लंबाई बढ़ाने के लिए रोजाना दो गिलास दूध पीना चाहिए साथ ही डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: बलगम के उपचार के लिए घरेलू उपाय]

पूरी नींद लें:
how to increase height with the help of home remediesव्यक्ति जब आराम करता है तो लंबाई के लिए जरुरी ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन स्वाभाविक रुप से उत्पादित होते हैं। गहरी नींद में दिमाग आराम करता है जिससे अधिक मात्रा में हार्मोन की ग्रोथ होती है। इसके विपरीत दिमाग के थके हुए होने पर हार्मोन की ग्रोथ नहीं होती है। इसलिए पूरी नींद लेना जरुरी होता है।

संतुलित भोजन का सेवन करें: सही मात्रा में पोषक तत्वों का सेवन ना करने से व्यक्ति की लंबाई नहीं बढ़ पाती है। डाइट में जिंक, मैंगनीज, विटामिन सी, प्रोटीन, पोटेशियम, कैल्शियम और फॉसफोरस होना जरुरी होता है जो लंबाई को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके लिए डाइट में फल, सब्जियां, लो फैट डेयरी प्रोडक्ट का होना जरुरी होता है।

सुबह के समय सूरज की रोशनी में जाएं: सूरज की रोशनी विटामिन डी का प्राकृतिक स्त्रोत होता है। जो शरीर के विकास के लिए जरुरी होता है। जब शरीर को सही मात्रा में विटामिन डी नहीं मिलता है तो हड्डियां कमजोर हो जाती है। शरीर को सही मात्रा में विटामिन डी मिलने के लिए रोजाना 20-30 मिनट तक सूरज की रोशनी में खड़े होना चाहिए। [ये भी पढ़ें: पैरों के कॉर्न को ठीक करने के घरेलू उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "