दांतो की झनझनाहट को कम करने के लिए घरेलू उपाय

Read in English
How to Get Rid of Tooth Sensitivity Fast at Home

बहुत बार कुछ भी खट्टा, गरम, ठंडा, या मीठा खाने पर आपके दांतों में तेज दर्द या झनझनाहट महसूस होती है। इसे दांतों की सेंसिटिविटी कहा जाता है। दांतों की जड़ों में सैंकड़ों छोटी-छोटी नलिकाएं होती हैं जिन्हें ट्यूबल कहा जाता है। आप जो भी गर्म या ठंडी चीज खाते हैं वे इन ट्यूबल के माध्यम से दांतों की नसों और मसूड़ों के टिशू तक पहुंचती हैं। दांतों में कैविटीज, दांत टूटने, मसूड़ों की बीमारी और दांतों के इनेमल के उतरने के कारण ट्यूबल को नुकसान पहुंचता है जिससे दांतों में झनझनाहट हो सकती है। दांतों की झनझनाहट के कारण आपको कुछ भी खाने-पीने से डर लगता है। ऐसे में झनझनाहट को कम करने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं। [ये भी पढें: सांसों की बदबू दूर करने के लिए घर पर आसानी से बनाएं माउथवॉश]

1.नमक का पानी: नमक का पानी दांतों की सेंसिटिविटी को तेजी से खत्म करता है। यह मुंह के pH को बैलेंस करता है। नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो मुंह के बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करते हैं। इसलिए नमक को गर्म पानी में डालकर उससे अच्छी तरह से कुल्ला कर लें। इसे दिन में दो बार करने से दांतों की झनझनाहट कम होती है।

2. लौंग या लौंग का तेल: लौंग में एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि दांतों के दर्द को कम करते हैं और मुंह के इंफेक्शन को खत्म करने में मदद करते हैं। इसके लिए आप लौंग चबा सकते हैं या फिर लौंग के तेल को दांतों पर लगा सकते हैं जिससे दांतों की झनझनाहट दूर होती है। [ये भी पढें: निगलने के दौरान गले में होने वाले दर्द से निजात पाने के लिए घरेलू उपाय]

3. कच्चा प्याज: कच्चे प्याज में फ्लैवेनॉइड होते हैं जिनमें एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं जिससे यह दांतों की झनझनाहट को कम करने में मदद करता है। प्याज के एक छोटे टुकड़े को दांतों में दबाएं और 5 मिनट बाद नमक के पानी से कुल्ला कर लें जिससे दांतों की झनझनाहट कम करने में मदद मिलती है।

4. लहसुन: लहसुन में एलिसिन काफी मात्रा में होता है जिसमें शक्तिशाली एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। यह दांतों की संवेदनशीलता और संक्रमण को कम करने में मदद करता है। इसके लिए 2-3 लहसुन की कलियों को छिलकर उसमें थोड़ा सा पानी डालकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को दांतों पर लगाएं और थोड़ी देर बाद नमक के पानी से कुल्ला कर लें। इसे दिन में दो बार कर सकते हैं।

5. ऑयल पुलिंग: नारियल के तेल में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं इसलिए यह झनझनाहट को कम करने में मदद करता है। इसलिए नारियल के तेल को मुंह में भर कर 10 मिनट तक इसे मुंह में घुमाएं और फिर थूक दें। इसके बाद नमक के पानी से कुल्ला कर लें। [ये भी पढें: गर्दन के दर्द को दूर करने के लिए घरेलू उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "