पेट में जलन की समस्या को घरेलू उपायों की मदद से करें दूर

Read in English
how to get rid of burning sensation in stomach

कई बार कुछ मसालेदार खाना खा लेने या अन्य कई कारणों की वजह से पेट में जलन होने लगती है। जिसकी वजह से सीने में दर्द, गैस, पेट फूलना और कुछ खाने के बाद जी मिचलाने जैसी समस्या होने लगती है। पेट में अत्यधिक एसिड बनने की वजह से जलन होने लगती है। इसके अलावा दवाईयों के साइड इफेक्ट, तनाव, एल्कोहल का सेवन करने, धूम्रपान और मोटापे, सही डाइट का सेवन ना करने की वजह से पेट में जलन होने लगती है। अगर पेट में जलन का सही समय पर इलाज ना किया जाए तो यह समस्या बढ़ सकती है। कुछ घरेलू उपायों की मदद से पेट में जलन की समस्या को कम किया जा सकता है। तो आइए आपको इन घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने के लिए आवश्यक घरेलू उपाय]

सेब का सिरका: सेब के सिरके में एल्कलाइजिंग इफेक्ट होते हैं जो पेट में एसिड के लेवल को संतुलित रखने में मदद करता है। साथ ही सेब के सिरके के सेवन से पेट में अत्यधिक मात्रा में एसिड नहीं बनता है। जिसकी वजह से दर्द होता है। इसके लिए 1-2 चम्मच सेब के सिरके, शहद को गुनगुने पानी में मिलाकर दिन में 1-2 बार पिएं।

अदरक:
how to get rid of burning sensation in stomachपाचन और पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए अदरक बहुत फायदेमंद होता है। अदरक में मौजूद गुण पेट में बलगम स्राव को बढ़ावा देता है और आपके पेट पर एसिड के प्रभाव को कम करता है। आधा चम्मच अदरक के जूस में शहद मिलाकर खाने से पहले इसका सेवन करें। [ये भी पढ़ें: वेरिकोस वेंस के उपचार के लिए उपयोगी घरेलू उपाय]

एलोवेरा जूस:
how to get rid of burning sensation in stomach एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं इसके साथ ही इसमें विटामिन, मिनरल और अमीनो एसिड होते हैं जो पाचन में सुधार करके शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालने में मदद करता है। इसके लिए खाने से पहले आधा कप एलोवेरा जूस पिएं।

नींबू: पेट में एसिड को संतुलित रखने के लिए नींबू को गुनगुने पानी में मिलाकर पीना फायदेमंद होता है। खाली पेट नींबू पानी का सेवन करने से इसके फायदे बेहतर ज्यादा मिलते हैं।

केला:
how to get rid of burning sensation in stomachकेले में उच्च मात्रा में फाइबर होता है जो पेट में एसिड बनने की समस्या को कम करता है जिसकी वजह से सीने और पेट में जलन कम होती है। केले में नेचुरल एंटासिड होते हैं जो एसिड के लेवल को संतुलित रखने में मदद करता है। इसके लिए रोज एक केला खाएं या इसकी स्मूदी बनाकर पी सकते हैं। [ये भी पढ़ें: आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए उपयोगी घरेलू उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "