जल जाने पर त्वचा को ठीक करने के कुछ आसान घरेलू उपचार

how to get rid of burn by simple home remedies

जब आप किसी चीज से जल जाते हैं तो इससे त्वचा की ऊपरी परत को नुकसान पहुंचता हैं जो प्रभावित हिस्से को लाल कर देती है साथ ही इसमें दर्द भी होता है। गर्म तरल पदार्थ, स्टीम या सन एक्सपोजर के संपर्क के कारण भी आपकी त्वचा जल सकती है।अगर जलने पर इसका इलाज सही समय पर नहीं किया गया तो वह फफोले का रूप ले सकते हैं। जिसे कुछ आसान घरेलू उपायों की मदद से हैं कम या ठीक किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: थाई पर डार्क पैच को हल्का करने के घरेलू उपाय]

कच्चा आलू: कच्चे आलू में एंटी-इरिटेटिंग और सूदिंग प्रोपर्टीज होते हैं जो शरीर के किसी भी हिस्से के जल जाने के बाद ठीक करने में बहुत प्रभावी होते हैं। यह दर्द कम करने में मदद करता है और फफोले होने की संभावना को भी खत्म कर देता है। एक कच्चे आलू के रस को प्रभावित हिस्से पर लगाने पर जलन और दर्द को ठीक किया जा सकता है।

एलोवेरा: एलोवेरा में एस्ट्रिजेंट और हिलींग प्रोपर्टीज होता है जो जलन को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा यह फफोले को भी आने से रोकता है ताकि दर्द अधिक ना बढ़ जाए। एलोवेरा के पत्ते या उसके जेल को प्रभावित हिस्से पर लगाने से जलन कम हो जाएगी और किसी प्रकार का निशान भी नहीं रहता है। [ये भी पढ़ें: तैलीय त्वचा से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार]

नारियल तेल एवं नींबू का रस: नारियल का तेल और नींबू का रस दोनों जलन को दूर करने में मदद करता हैं। नारियल के तेल में विटामिन-ई और फैटी एसिड होता है। जैसे लौरिक एसिड, मैरिस्टिक एसिड और कैपरिलिक एसिड जो एंटी-फंगल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल लाभ प्रदान करते हैं। नींबू के रस में एसिडिक प्रोपर्टीज होती हैं जो स्वाभाविक रूप से निशान को हल्का करने में मदद करती हैं।

शहद: शहद जलन को कम करने और घाव को भरने में बहुत प्रभावी होता है इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण जली त्वचा को जल्दी ठीक करने में मदद करते हैं। यह हाइपरट्रोफिक निशान के विकास की संभावना को भी कम कर देता है। शहद को प्रभावित हिस्से पर लगाने से दर्द कम होता है और फफोले होने की संभावना भी दूर हो जाती है।

सिरका: सिरके में एस्ट्रिजेंट और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो जले हुए हिस्से से दर्द, जलन और लालीपन को कम करने में मदद करते हैं। सफेद सिरका और सेब के सिरके को पानी में मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे आपको बहुत आराम मिलेगा।

लैवेंंडर एसेंशियल ऑयल: लैवेंडर एसेंशियल ऑयल में एंटीसेप्टिक और पेनकिलिंग प्रोपर्टीज होती हैं जो जलन दूर करने के लिए बहुत प्रभावी होते हैं। एक साफ कपड़े को एसेंशियल ऑयल में मिलाएं और उसे प्रभावित हिस्से पर लगाएं। यह दर्द और जलन को दूर करने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें: नाक से खून बहने की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपचार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "