टायफॉयड से राहत पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार

how to deal with typhoid fever with simple home remedies

टायफॉयड इंन्टेस्टाइनल ट्रैक्ट और रक्तप्रवाह में बैक्टीरियल संक्रमण से होता है। इसके लिए साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया जिम्मेदार होता है। यह बैक्टीरिया दूषित भोजन या पानी के जरिए आपके शरीर में प्रवेश करता है जो इंटेस्टाइन से होते हुए रक्तप्रवाह में फैलता है। बैक्टीरिया आपके लिम्फ नोड्स, लिवर, प्लीहा, गॉल ब्लैडर और शरीर के अन्य हिस्सों में रक्त के माध्यम से जाता है। डॉक्टर इसके इलाज के लिए एंटीबायोटिक लेने का सुझाव देते हैं लेकिन कई ऐसे घरेलू उपचार भी हैं जिनकी मदद से आप टायफॉयड से निजात पा सकते हैं। [ये भी पढ़ें- जानिए बरसात के मौसम में पेट के संक्रमण से कैसे बचें]

1. घर में बना ओआरएस घोल(ओरल रिहाईड्रेशन सौल्युशन):
how to deal with typhoid fever with simple home remediesशरीर में पानी की कमी हो जाने के कारण दस्त की समस्या हो जाती है जिसके लिए ओआरएस का घोल फायदेमंद होता है। ओआरएस टाइफॉइड के लक्षणों की तीव्रता को कम करता है। एक ग्लास पानी में नमक और चीनी मिलाकर पीने से टायफॉयड के कारण हुई कमजोरी दूर होती है।

2. सेब का सिरका:
सेब का सिरका टाइफॉइड बुखार के लिए एक अच्छा उपाय होता है। इसमें एसिडिक प्रॉपर्टी होता है जो शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में मदद करता है। सेब के सिरका में मिनरल होता है जो शरीर की कमजोरी को दूर करता है। एक सप्ताह तक सेब के सिरका को शहद के साथ मिलाकर पीना फायदेमंद होता है। [ये भी पढ़ें: अदरक के वो फायदे जिनके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे]

3. लहसुन:
how to deal with typhoid fever with simple home remediesलहसुन में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो टायफॉयड के कारण शरीर में बने बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। इससे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली भी मजबूत होती है। टाइफॉयड बुखार के लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए कुछ हफ्तों तक खाली पेट 2 लहसुन जरूर खाएं।

4. तुलसी:
how to deal with typhoid fever with simple home remediesतुलसी टाइफाइड बुखार के लिए एक और प्रभावी उपचार होता है। इस जड़ी बूटी में एंटीबायोटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो टाइफाइड बुखार के कारण बैक्टीरिया से छुटकारा पाने में मदद करता है। इसके अलावा, यह बुखार को कम करने में, पेट को शांत करने में और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में सहायता करता है। तुलसी का पत्ता और 1 चम्मच अदरक के रस को 1 कप पानी के साथ मिलाकर पीना फायदेमंद हो सकता है।

5. केला:

how to deal with typhoid fever with simple home remediesकेले से बुखार को कम किया जा सकता है और टाइफाइड वाले लोगों में दस्त के इलाज में भी मदद करता है। केले में मौजूद पेक्टिन एक घुलनशील फाइबर होता है जो आंतों में तरल पदार्थ को अवशोषित करने में मदद करता है और इससे दस्त में भी राहत मिलता है। केले में मौजूद पोटेशियम बुखार और दस्त के दौरान नष्ट हुए इलेक्ट्रोलाइट्स को बदलने में मदद करता है। आधे कप दही में 2 मसला हुआ केला और 1 चम्मच शहद मिलाकर खाना टायफॉयड फीवर से राहत दिलाता है। [ये भी पढ़ें: दिमागी शक्ति बढ़ाने के लिए करें इन हर्ब्स का सेवन]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "