पैरों के नाखूनों पर होने वाले फंगस से बचने के जाने कुछ आसान घरेलू उपचार

Home remedies to get rid of Toenail Fungus

पैरों के नाखूनों पर होने वाले फंगस को ओनीकोमाइकोसिस भी कहते हैं, जो एक बहुत आम समस्या होती है। इसके कुछ लक्षण होते हैं जैसे- पीलापन, सूजन या नाखूनों का टूटना। जब तक इसमें इंफेक्शन ना बढ़ जाए, तब तक इसमें दर्द की समस्या नहीं होती है। पैरों के नाखूनों पर होने वाले फंगस होने के कई कारण होते हैं जैसे- पीएच लेवल का असामान्य होना, इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाना, पैरों में अत्यधिक पसीना आना, गंदे मोजे पहनना या डायबीटिज होना। अगर इस इंफेक्शन को समय रहते नहीं ठीक किया जाएगा तो इसकी वजह आपके नाखून पूरी तरह से खत्म भी हो सकते हैं। कुछ ऐसे घरेलू उपचार होते हैं जिनकी मदद से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। आइए उन उपायों के बारे में जानते हैं। [ये भी पढ़ें: हाथों की मांसपेशियों के दर्द से घरेलू उपचारों से मिल सकता है आराम]

सेब का सिरका:
Home remedies to get rid of Toenail Fungusसेब का सिरका एसिडिस होता है जो नाखूनों के लगने वाले फंगस को कम करता है। इसके अलावा इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं जो फंगस और बैक्टीरियो को नष्ट करने में मदद करते हैं। इसमें पाए जाने वाले तत्व इस समस्या से होने वाली परेशानियों को कम करता है। सेब के सिरका को पानी के साथ मिलाएं और अपने पैरों को 30 मिनट तक उसमें रखें। फिर उसे साफ कपड़े से पोछ लें। इस प्रक्रिया को एक सप्ताह तक करें।

टी-ट्री ऑयल:
Home remedies to get rid of Toenail Fungusटी-ट्री ऑयल एंटीसेप्टिक की तरह तो काम करता ही है साथ ही इसमें एंटी-फंगल गुण भी होते हैं जो पैरों के नाखूनों में होने वाले फंगल इंफेक्शन को कम करने में मदद करते हैं। टी-ट्री ऑयल को नारियल के तेल के साथ मिलाएं और रूई की मदद से उसे प्रभावित जगह पर लगाएं। 10 मिनट तक उसे छोड़ दें और फिर टूथब्रश की मदद से स्क्रब करें। इसे दिन में 2 से 3 बार दोहराएं। [ये भी पढ़ें: जीभ पर जमी सफेद परत को इन घरेलू उपायों की मदद से करें दूर]

लहसुन:
लहसुन में एलिसिन होता है जिसमें एंटीफंगल गुण होता है और यह पैरों के नाखूनों को फंगस और बैक्टीरिया से बचाता है। लहसुन और सिरके का एक पेस्ट बनाएं और उसे प्रभावित हिस्सों पर लगाएं। इसे बैंडेज से ढक लें। फिर इसे कुछ घंटों तक छोड़ दें और बैंडेज हटा लें। इसे प्रक्रिया को तब तक करें जब तक आपका इंफेक्शन कम ना हो जाए।

नींबू का रस:
नींबू के रस में एंटीसेप्टिक और एंटी-फंगल गुण होता है जो नाखूनों को इंफेक्शन होने से बचाता है। इसके अलावा इसमें साइट्रिक एसिड भी होता है जो इस समस्या से होने वाले लक्षणों को कम करता है। नींबू के रस को प्रभावित हिस्से पर लगाकर 30 मिनट तक छोड़ दें और फिर गर्म पानी से धो लें। यह काफी प्रभावी होता है। [ये भी पढ़ें: खाने के अलावा और भी कई तरीकों से किया जा सकता है नमक का इस्तेमाल]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "