अस्थमा से बचने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खें

home remedies to cure asthma

अस्थमा का इलाज सही समय पर करने से उसके गंभीर होने से बचा जा सकता है। यह एक प्रकार की एलर्जी है जो धूप, धूल और प्रदूषण आदि के सांस की नली में चले जाने के कारण होती है। अस्थमा में सांस लेने में तकलीफ होती है क्योंकि सांस लेते समय फेफड़े सिकुड़ने लगते हैं। इसके दौरान जब सांस ले कर वापस छोड़ते हैं तब बहुत अधिक तकलीफ होती है। बच्चों में अस्थमा खाने से हुई एलर्जी के कारण और वातावरण के कारण भी होता है। अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति को अपने खान पान का ध्यान रखना होता है। तरह-तरह की दवाओं के अलावा आपके घर में भी ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिनके इस्तेमाल से आप इस बीमारी का उपचार कर सकते हैं। आइए जानते हैं उन घरेलू उपायों के बारे में जो अस्थमा से बचने में कारगर हैं।
मेथी:

home remedies to cure asthmaमेथी में कई बीमारियों को दूर करने की क्षमता है। मेथी में पाए जाने वाले पोषक तत्वों में नियासिन, पोटेशियम, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, आयरन और एल्कलॉयड शामिल होते हैं जिनके सेवन से बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है उनमें से एक है अस्थमा। इसका प्रयोग आप किसी भी प्रकार से कर सकते हैं। आप इसे अपने भोजन में डाल कर खा सकते हैं या फिर इसके पाउडर को आप सीधा पानी के साथ ले सकते हैं। [ये भी पढ़ें: कुछ ऐसे हर्ब जिससे हो जाएंगे सर्दी-जुकाम छूमंतर]

हल्दी:
home remedies to cure asthmaहल्दी भी बहुत सी बीमारियों में काम में लायी जाती है फिर वह सूजन हो या खांसी। हल्दी अस्थमा के इलाज में भी बहुत असरकारक होती है। इसमें मौजूद कारमिनेटिव, एंटी-बैक्टीरियल तत्व अस्थमा से लड़ने में मदद करते हैं। हल्दी को आप खाने में या दूध के साथ ले सकते हैं या फिर कच्ची हल्दी के रस का सेवन भी किया जा सकता है।

मुलेठी:
home remedies to cure asthmaमुलेठी का प्रयोग श्वास नली को सुचारू रूप से चलाने, सांस को छोड़ने में होने वाली तकलीफ को दूर करने में किया जाता है। इसके अंदर ग्लिसराइजजिन एसिड, आएसो लिक्विरिटन, स्टार्च की अधिकता होती है। यह अस्थमा के कारण शरीर के भीतर हो रही एलर्जी से बचाव करता है। आप मुलेठी के पाउडर को पानी के साथ ले सकते हैं या फिर मुलेठी के डंठल को चूस भी सकते हैं। [ये भी पढ़ें: रुला देनें वाले दांत दर्द का करें खुद से इलाज]

लहसुन:
home remedies to cure asthmaलहसुन के निरतंर प्रयोग से अस्थमा से छुटकारा पाया जा सकता है। लहसुन एक प्राकृतिक एंटी-बायोटिक भी है। इसके अंदर दो खास तरह के तत्व पाए जाते हैं जो एल्लिसिन नामक एंटी-बायोटिक का काम करते हैं। इसको आप कस कर या फिर छोटे टुकड़ों में काट कर और नीबू व नमक मिलाकर खा सकते हैं। इसके निरंतर सेवन के कारण बहुत ही जल्द आराम मिलने लगता है।

कोल्टस फूट:
कोल्टस फ्रूट का प्रयोग खांसी की दवाइयों को बनाने में काम में आता है। अस्थमा के अटैक से बचाव के लिए भी कोल्टस फ्रूट का प्रयोग किया जाता है। एक अध्ययन के अनुसार 15 ग्राम कोल्टस फ्रूट के सेवन से ढाई महीनों में अस्थमा से आराम मिलने लगता है।

आंवला:
home remedies to cure asthmaआंवला भी अस्थमा के मरीज के लिए बहुत लाभकारी है। इसमें मौजूद तत्व जैसे एसिड, टैनिक एसिड, शर्करा (ग्लूकोज), एलब्यूमिन यह सभी अस्थमा से छुटकारा दिलाते है। आप आंवले को कच्चा भी खा सकते है। हालांकि उससे ज्यादा आवंले का पाउडर असरदार होता है। इसके लिए आप दो छोटे चम्मच आंवले का पाउडर लें और उसमें एक चम्मच शहद मिला लें। इस पेस्ट का हर सुबह सेवन करें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "