बलगम के उपचार के लिए घरेलू उपाय

home-remedies-for-phlegm

कफ या बलगम की परेशानी सर्दियों में आम होती है, ये श्वसन प्रणाली में संक्रमण के कारण होने वाली परेशानी है। अगर इसका लंबे समय तक इलाज ना किया जाए तो ये श्वसन नली में जमा हो जाता है और इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। बलगम की परेशानी से सांस लेने में तकलीफ होना, बार-बार मुंह में बलगम आने जैसी तकलीफ हो सकती है। लेकिन इस परेशानी का उपचार आप अपने घर पर ही कुछ घरेलू उपायों की सहायता से कर सकते हैं। आइए जानते हैं इन घरेलू उपायों के बारे में। [ये भी पढ़ें: घुंघराले बालों को संभालने में मददगार हैं घरेलू उपाय]

1. स्टीम(भाप लेना): भाप लेना एक सबसे आसान और सबसे ज्यादा फायदेमंद घरेलू उपाय है, जो बलगम को दूर करता है। स्टीम लेने से नाक के रास्ते से भाप शरीर में पहुंच कर बलगम को तरल बनाता है। इससे बलगम जमा हुआ नहीं रहता और हमारे शरीर से आसानी से बाहर निकल जाता है।

कैसे करें इस्तेमाल:

  • दिन में एक बार स्टीम बाथ लें।
  • स्टीमर की सहायता से मुंह को ढ़क कर स्टीम लें सकते आप चाहें को मुंह को तौलिए से।
  • ढ़ककर गर्मपानी को बर्तन में भरकर भी स्टीम ले सकते हैं।

2. नमक का पानी: गर्म में नमक डालकर ग़रारे करना भी इसके लिए उपयोगी रहता है। गर्म पानी के इस्तेमाल से गले को राहत मिलती है, साथ ही नमक बैक्टीरिया को खत्म करता है जिससे बलगम पैदा होने और संक्रमण होने का खतरा कम हो जाता है।

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक चौथाई चम्मच नमक को गर्म पानी में घोल लें।
  • .इस मिश्रण के साथ गरारे करें।

3.नींबू का रस: बलगम की परेशानी को ठीक करने के लिए नींबू का रस एक सर्वोत्तम औषधि मानी जाती है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होने के साथ-साथ विटामिन C भी पर्याप्त मात्रा में होता है जो की शरीर की संक्रमण प्रतिरोध शक्ति को बढ़ाता है।

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक चम्मच शहद में दो चम्मच नींबू का रस मिलाएं और इसे एक ग्लास गर्म पानी के साथ प्रयोग में ले। इसे दिन में कम से कम 3 बार पिएं। ये गले के दर्द को शांत करता है और साथ ही बलगम को शरीर से निकालने में भी उपयोगी होता है।
  • नींबू का एक टुकड़ा काटकर इस पर नमक छिड़कें और साथ ही इस पर हल्की सी काली मिर्च डालकर इसे चूसे। यह गले के दर्द और बलगम से राहत देता है। [ये भी पढ़ें: घुटने की त्वचा की रंगत को निखारने के लिए घरेलू उपचार]

4.अदरक: अदरक सर्दी-खांसी की एक प्राकृतिक दवा होती है। जो की गले और श्वसन नली के संक्रमण के खत्म करती है अदरक में प्राकृतिक रुप सें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एक्सपेक्टोरेट गुण होते हैं जो कि सीने और गले में बलगम के जमाव को कम करता है और इससे सांस लेने में आसानी होती है।

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक अदरक के टुकड़े को एक कप गर्म पानी में उबालें और इसमें 2 चम्मच शहद डालें। इसे आप दिन में कई बार पी सकते हैं।
  • आप चाहें तो अदरक को चबा भी सकते हैं। अदरक के टुकड़े को चबाना भी गले को राहत देता है।

5. हल्दी: इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखने के लिए हल्दी उपयोगी होती है। इसमें एंटी-सेप्टीक गुण पर्याप्त मात्रा में होते हैं जो कफ को पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करता है और बलगम से निजात देता है।

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक ग्लास गर्म दूध में थोड़ी सी हल्दी मिलाएं और इसे सुबह-शाम सोने से पहले और नाश्ते में पी सकते हैं।
  • एक ग्लास गर्म पानी में भी हल्दी डालकर पी सकते हैं इससे भी राहत मिलती है।

6.शहद : शहद में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल और एंटी फंगल गुण होते हैं। इसलिए शहद एक बलगम रोधी दवा की तरह काम करता है। इसकी एंटी-सेप्टीक गुण इंफेक्शन को खत्म करने में भी मदद करता है।

कैसे करें इस्तेमाल: आप चाहें तो इसे सीधे खा सकते हैं या अदरक के साथ सेवन करें।

7.प्याज: प्याज में एंटीबायोटिक और एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं जो की गले को आराम देते हैं और साथ ही बलगम से छुटकारा दिलाता है। इससे इम्यून सिस्टम को मजबूती मिलती है इसके लिए आप प्याज के रस और शुगर को मिलाकर एक टॉनिक बना सकते हैं। इससे बलगम से राहत मिलती है।

कैसे करें इस्तेमाल:

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "