इन तरीकों से पथरी की समस्या को करें दूर

Home Remedies for kidney stone

पथरी की समस्या का कारण है पेशाब में कैल्शियम की मात्रा जरूरत से ज्यादा बढ़ जाना । जब हम अधिक कैल्शियम वाला भोजन खाते हैं तब पेशाब के जरिए कैल्शियम ऑग्जेलेट या फॉस्फेट के कण अधिक मात्रा निकल नही पातें। यह हमारी किडनी में इकट्ठा होने लगते हैं और यही आगे चलकर पथरी का रूप ले लेता है। कुछ बहुत छोटे होते हैं जो पेशाब के जरिए हमारे शरीर से निकल जातें है पर कुछ ऐसे होते है जिनको सर्जरी के जरिए निकाला जाता है। पथरी की समस्या में डॉक्टर की सलाह के अलावा कुछ घरेलू नुस्खों के जरिए आराम पा सकते हैं, तो आइए जानते हैं पथरी के घरेलू उपचार के बारे में। [ये भी पढ़ें: सूजन की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं यह घरेलू तरीके]

1.नींबू का रस, ओलिव ऑयल और सेब का सिरका:जब आपको लगे कि आपको पथरी का दर्द हो रहा है तब 50 मिली ओलिव ऑयल में 50 मिली नींबू का रस मिला कर उसका सेवन करें। उसके बाद करीब आधा लीटर साफ पानी पिये। आधे घंटे के बाद आधे लीटर पानी में 1 से 2 नींबू का रस मिलाएं और साथ ही उसमें एक चम्मच सेब का सिरका मिलाएं और इसे पी लें। इसे हर घंटे इसी तरह से लेते रहें। इससे आपको कम समय से राहत मिलेगी।

2.उवा उर्सी:उवा उर्सी एक आम सा घरेलू उपचार है। यह न केवल किडनी को इन्फेक्शन से बचाता है बल्कि यह किडनी में हो रहे दर्द को कम करता है और उसे साफ भी रखता है। आप इसे दिन में तीन बार 500 मिलीग्राम ले सकते हैं। [ये भी पढ़ें: अगर आप कब्ज की समस्या से हैं परेशान तो आजमाएं ये घरेलू उपाय]

3.डेंडलिओन रुट:यह एक पौधे का नाम है जिसे हम आमतौर से सिंहपर्णी कहते हैं। पौधे की जड़ें किडनी से जुड़ी बीमारियों के उपचार के लिए बहुत ही लाभदायक है। यह हमारी किडनी को साफ करने में मदद करता है। पथरी के उपचार के लिए इसका 2 से 8 ग्राम पाउडर दिन में तीन बार लें। अगर आप इसके कैप्सूल लेते हैं तो 250 मिग्रा. के कैप्सूल लें।

4.राजमा:राजमा में फाइबर की मात्रा अधिक होती है। यह किसी भी प्रकार के पथरी को ठीक करने का दम रखता है। आप राजमा को सब्जी, दाल के रूप में खा सकते हैं। इसके अलावा राजमा को भिगो दें और उसके बाद उसे उबाल दें जो पानी उबालने के बाद बचे उसे पी लें। बचे राजमा को आप किसी भी तरह से प्रयोग में ला सकते हैं।

5.गेहूं:गेहूं में विटामिन बी, एमिनो एसिड, आयरन जैसे तत्व होते हैं, जो पथरी के इलाज में बहुत ही लाभदायक होते है। आप इसकी बालियों के रस का उपयोग कर सकते है। एक गिलास रस में एक चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाएं और इसे दिन में तीन बार पियें।

6.अनार का जूस:अनार के जूस हमारे शरीर से पीएसए के स्तर को कम करता है, साथ ही इसमें आयरन होता है जो पथरी के इलाज के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। आप यदि जूस नहीं पी सकते हैं तो अनार के बीजों को पीस कर उसका सेवन कर सकतें है, यह पथरी को अंदर ही अंदर कम कर देता है।

7.तुलसी:तुलसी एक एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व है जो पथरी की बीमारी के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। आप रोजाना सुबह-सुबह तीन से चार पत्तियों को चबाएं या शहद के साथ भी ले सकते हैं। इसके अलावा आप तुलसी की हर्ब चाय बना कर पी सकते हैं। [ये भी पढ़ें: डायबिटीज से राहत के लिये अपनाएं कुछ चुनिन्दा नुस्खें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "