कान के संक्रमण को दूर करने के लिए घरेलू उपाय

Home remedies for fighting ear infections

कान का दर्द आपको कभी भी परेशान कर सकता है। इसका मुख्य कारण आपके कान या कान के किसी हिस्से में संक्रमण या सूजन हो सकती है। संक्रमण होने के कारण कान में तेज दर्द होना, कान के अंदरुनी हिस्सों में सूजन, सुनने मे परेशानी आदि अनेक समस्याएं हो सकती हैं। अगर आप इनमें से कोई भी लक्षण महसूस कर रहे हैं तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। हालांकि प्राथमिक स्तर पर राहत पाने के लिए आप कुछ घरेलू उपचारों की मदद ले सकते हैं। आइए जानते हैं कि कान में संक्रमण की परेशानी से लड़ने के लिए आप क्या-क्या घरेलू उपाय अपना सकते हैं। [ये भी पढ़ें: चश्मे के निशान हटाने के लिए करें इन घरेलू उपायों का इस्तेमाल]

1. लहसुन: लहसुन में एंटी-बायोटिक और दर्द को कम करने के गुण होते हैं। कान के संक्रमण को कम करने के लिए आप लहसुन के रस का इस्तेमाल कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार कान में लहसुन का रस युक्त ड्रॉप डालने पर यह संक्रमण को काफी हद तक कम कर देता है। हल्के गर्म ऑलिव ऑयल या शीशम के तेल में लहसुन डालकर इसकी कुछ बूंदें कान में डालने पर संक्रमण जल्द ठीक हो जाता है।

2. अदरक: अदरक में नेचुरल एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं, जो कि कान के संक्रमण को प्राकृतिक रुप से कम करने में मदद करता है। अदरक के रस या तेल में अदरक डालकर हल्का गर्म करके इसे कान में डालें।  इससे आपको कान के दर्द से राहत मिलती है। [ये भी पढ़ें: गला बैठने की समस्या को दूर करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय]

3. टी- ट्री ऑयल: इस तेल में शक्तिशाली एंटी-फंगल, एंटी-सेप्टीक और एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी- बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए कान के संक्रमण और दर्द को कम करने के लिए आप इसे एक प्रभावशाली औषधि के रुप में प्रयोग में ले सकते हैं।

4. एप्पल- साइडर वेनेगर: इस वेनेगर में एंटी-ग्लाइसेमिक और एंटी-इंफेक्टिव गुण होते हैं जो कि इंफेक्शन को ठीक करने के लिए उपयोगी होते है। अगर आपका कान लगातार दर्द हो रहा है तो आप कान में इस वेनेगर का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप इसे दिन में 2 बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

5. प्याज: प्याज में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते है जो कि कान की सूजन और दर्द को कम करते हैं। साथ ही साथ संक्रमण से भी लड़ने में मदद करते हैं। इसलिए कान के संक्रमण को कम करने के लिए आप प्याज के रस का इस्तेमाल कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: स्किन पीलिंग की समस्या दूर करने के लिए अपनाएं घरेलू उपाय]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "