लगातार छींक आने की परेशानी से राहत पाने केलिए घरेलू उपाय

home-remedies-for-continuous-sneezing

सर्दियों में जुकाम होने के कारण छींकना एक आम समस्या है। किसी भी तरह की एलर्जी बार-बार छींक आने का कारण हो सकती है। बार-बार छींके आने से आप काफी परेशान हो जाते हैं। धुंआ, धूल, लकड़ी का बुरादा आदि के कारण होने वाली एलर्जी आदि चीजें छींक आने की परेशानी को और बढ़ा देती हैं। जब भी आपको लगातार छींके आती हैं तो उनके साथ-साथ आंखों से पानी बहना, थकान, नाक बहना, नाक में जलन व खुजली और आंखों का लाल होने जैसी परेशानियां भी पैदा हो जाती हैं। इसलिए बार-बार छींकना आपके लिए अत्यधिक परेशानी का सबब हो सकता है। कुछ घरेलू उपायों की मदद से आप लगातार छींक आने को रोक सकते हैं। आइए जानते हैं बार-बार छींकने से होने वाली परेशानी को रोकने के लिए घरेलू उपाय। [ये भी पढ़ें: जुओं से निजात पाने के लिए घरेलू उपाय]

1.लहसुन: लहसुन में मौजूद एंटी-बायोटिक और एंटी-वायरल गुण श्वसन नली के संक्रमण को कम करते हैं । इसलिए अदरक का सेवन करने से बार-बार छींकने की परेशानी से राहत मिलती है।

कैसे करें इस्तेमाल: 

  • 4-5 ताजा लहसुन की कलियों को पीसकर आप इन्हें सूंघ सकते हैं।
  • अपने सूप और सलाद में डालकर लहसुन का सेवन भी कर सकते हैं।

2.अदरक: लगातार छींकने से निजात पाने के लिए अदरक का सेवन करना लाभकारी होता है । यह बंद नाक और नाक के संक्रमण को कम करने के लिए प्राचीन काल से उपयोग में लाई जाने वाली औषधि है। [ये भी पढ़ें: जुओं से निजात पाने के लिए घरेलू उपाय]

कैसे करें इस्तेमाल: 

  • एक-एक चम्मच अदरक के रस का सुबह-शाम सेवन करें।
  • गर्म पानी में अदरक और शहद डालकर उसका सेवन कर सकते हैं।

3.सौंफ: सौंफ में एंटी-बायोटिक और एंटी-वायरल गुण होते हैं जो कि श्वसन प्रणाली के संक्रमण को दूर करने के लिए लाभकारी होते हैं। इसलिए बार-बार आने वाली छींक को रोकने के लिए आप सौंफ का सेवन कर सकते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल: 

  • एक कप पानी में 2 चम्मच सौंफ डालकर पानी को उबाल लें और 15 मिनट तक उबालने के बाद ठंडा करके पी लें।
  • आप रोजाना 2 कप सौंफ की चाय पी सकते हैं।

4.तुलसी की पत्तियां: आयुर्वेद के अनुसार, तुलसी एक महत्वपूर्ण औषधि होती है। इसमें पर्याप्त रुप से एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण को कम करके लगातार आ रही छींक से निजात दिलाते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल: 

  • एक कप पानी में 3-4 पत्ते तुलसी डालकर उबालें और इसे सोने से पहले पिएं।

5.नींबू और शहद की चाय: शहद में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो कि नाक के बैक्टीरिया को कम करने के लिए उपयोगी होते हैं। इसी के साथ नींबू में विटामिन C होता है जो कि एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट है और लगातार छींकने की परेशानी से निजात दिलाता है।

कैसे करें इस्तेमाल: 

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "