घरेलू उपाय की मदद से कैसे करें एडिमा की समस्या को दूर

effective home remedies for edema

photo credit: medporada.in.ua

एडिमा को हाइड्रोप्सी भी कहते हैं जिसमें शरीर के ऊतकों में द्रव एकत्रित होने लगता है। द्रव एकत्रित हो जाने की वजह से शरीर में सूजन आने लगती है। एडिमा शरीर के किसी भी भाग में हो सकती है। वैसे यह ज्यादातर हाथ, पैर, एड़ियों को प्रभावित करता है। कभी-कभी ज्यादा देर तक बैठे या खड़े रहने की वजह से भी एडिमा की समस्या होने लगती है।  ऐसा रक्त कोशिकाओं में तरल का दबाव बढ़ने से होता है जिसकी वजह से सूजन आ जाती है। हाईब्लड प्रेशर, एस्ट्रोजन और डायबिटीज की दवाइयों के साइड इफेक्ट के कारण भी एडिमा की समस्या हो सकती है। यह ज्यादा हानिकारक नहीं होता है लेकिन यह किसी समस्या के संकेत हो सकते हैं। इसलिए डॉक्टर से परामर्श ले लें। लाइफस्टाइल में बदलाव करके एडिमा के लक्षणों को कम किया जा सकता है। इसके लिए आप कुछ घरेलू उपायों की भी मदद से सकते हैं। तो आइए आपको इन घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: घुंघराले बालों को संभालने में मददगार हैं घरेलू उपाय]

सेंधा नमक:
सेंधा नमक शरीर से अत्यधिक तरल और विषाक्त पदार्थ निकालने में मदद करते हैं। पानी में सेंधा नमक मिलाकर नहाने से सूजन और एडिमा की वजह से होने वाले दर्द को कम करने में मदद करता है। इसके लिए 2 कर सेंधा नमक को गर्म पानी में मिलाकर नहाएं। इस तरह से एक सप्ताह में 2-3 बार करें।

टी ट्री ऑयल:
टी ट्री ऑयल में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण एडिमा और किसी कीड़े के काटने से होने वाली सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए प्रभावित क्षेत्र पर कॉटन बॉल की मदद से टी ट्री ऑयल लगाएं। कुछ देर लगे रहने के बाद गुनगुने पानी से धो लें। [ये भी पढ़ें: घरेलू उपाय जो वास्तव में प्रभावी होते हैं]

पार्सले: पार्सले शरीर से सूजन और दर्द को दूर करने के साथ अत्यधिक तरल निकालने में मदद करता है। इसके साथ ही यह सोडियम और पोटेशियम के दोबारा से अवशोषित होने को ब्लॉक करता है। इसका सेवन करने के लिए 2 कप पानी में 1 छोटा चम्मच पार्सले मिलाकर 10 मिनट गर्म कर लें। उसके बाद छानकर सुबह नाश्ता करने से पहले इसका सेवन करें।

सेब का सिरका:
एडिमा के लक्षणों को कम करने के लिए सेब का सिरका बहुत फायदेमंद है। इसमें उच्च मात्रा में पोटेशियम होता है जो शरीर में पोटेशियम के लेवल को सही करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही इसमें एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं सूदन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए 1 गिलास पानी में 1-2 चम्मच सेब का सिरका मिलाकर दिन में 2 बार पिएं।

धनियें के बीज: एडिमा के इलाज के लिए धनिये की बीज फायदेमंद होते हैं। इसमें एंटी-इंफ्ललेमेट्री गुण होते हैं जो सूजन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं। साथ ही ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करते हैं। इसके लिए 1 कप पानी में 2 चम्मच धनिए के बीज मिलाकर उबाल लें जब तक यह आधा ना रह जाए। उसके बाद इसे छानकर ठंडा करके दिन में दो बार पिएं। [ये भी पढ़ें: घुटने की त्वचा की रंगत को निखारने के लिए घरेलू उपचार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "