एड़ी में आई मोच को ठीक करने के लिए असरदार घरेलू उपचार

effective home remedies for ankle sprain

Pic Credit: ydvn.net/http://therecoveryzone.com

एड़ी में आई मोच एक सामान्य चोट हो सकती है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि इसके दौरान आपको दर्द कम होता है। यह सामान्य चोट तब लगती है जब आपका टखना या एड़ी अचानक एक तरफ मुड़ जाती है। एसा तब होता है जब आप किसी असमतल जगह पर चल, दौड़ रहे, या कोई अन्य गतिविधि कर रहे होते हैं। एड़ी के मुड़ जाने से एड़ी के लिगामेंट्स खिंच जाते हैं या टूट जाते हैं। लिगामेंट्स रेशेदार ऊतक होते हैं जो हड्डियों से जुड़ होते हैं और आपकी एड़ी को सपोर्ट करते हैं। इस दौरान आप प्राथमिक चिकित्सा के जरिए इसके दर्द को कम कर सकते हैं। कुछ घरेलू उपचार इसमें लाभकारी हैं। आइए जानते हैं एड़ी में आई मोच को ठीक करने के लिए कौन से घरेलू उपचार असरदार हैं। [ये भी पढ़ें: पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय]

सबसे पहले आराम: अगर आपकी एड़ी में मौच आ गई है तो सबसे पहले आपको जो काम करना है वो है आराम। अपनी एड़ी पर 48 घंटे के समय तक किसी तरह का वजन ना रखें। इतने समय के बाद सूजन और दर्द सामान्य तौर पर कम हो जाता है। इसके बाद भी एक साथ अधिक वजन ना उठाएं। धीरे-धीरे शुरुआत करें। उतना आराम करें तब तक कि आप सहज महसूस ना करने लगे।

बर्फ से सिकाई:
effective home remedies for ankle sprainएक तौलिये या किसी साफ कपड़े में बर्फ लेकर 20 मिनट के लिए प्रभावित हिस्से की सिकाई करें। हर घंटे इस उपचार को दोहराएं। दिन में तीन से चार बार सिकाई करना पर्याप्त होगा। इससे आपको जल्दी राहत मिलेगी। बर्फ को सीधे से अपनी त्वचा पर अप्लाई ना करें। [ये भी पढ़ें: पैरों के नाखूनों पर होने वाले फंगस से बचने के जाने कुछ आसान घरेलू उपचार]

हल्दी और नमक का लेप: एड़ी की मोच को ठीक करने के लिए लेप काफी असरादर साबित होता है। हल्दी में पाया जाने वाला कुरकुमिन एक मजबूत और बेहतरीन एंटी-इंफ्लेमेट्री तत्व है जो एड़ी की मोच के दौरान होने वाली सूजन और दर्द को कम करता है। कुरकुमिन आपके शरीर में कोर्टिसोन को बढ़ाता है। कोर्टिसोन एक हार्मोन है जो सूजन से लड़ता है।

गुलाब जल:
effective home remedies for ankle sprainगुलाब जल को लोग इसकी प्यारी महक के लिए जानते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसका उपयोग एड़ी की मोच के दौरान भी कर सकते हैं। गुलाब जल इंफ्लेमेशन को कम करने के लिए असरकारक होता है। गुलाब जल में मौजूद प्राकृतिक एंटीसेप्टिक तेल और एसट्रिंजेन्ट टैनिन एड़ी की सूजन को कम करते हैं साथ ही दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं। [ये भी पढ़ें: रुखे और शुष्क हाथों की देखभाल के लिए करें ये घरेलू उपचार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "