अजवायन और काला नमक पेट की एसिडिटी के लिए कैसे होता है प्रभावी

एसिडिटी एक ऐसी स्थिति है जिसमें पेट के गैस्ट्रिक ग्लैंड द्वारा हाइड्रोक्लोरिक एसिड का एक अतिरिक्त मात्रा स्रावित होता है। एसिड पेट को प्रभावित करता है जिसके कारण गैस्ट्रिक की समस्या उत्पन्न होती है। ये पेट के निचले हिस्से ओएसोफेगल तक पहुंच जाता है और दर्द और साने में जलन जैसी समस्या को पैदा कर देता है। ये पेट की समस्या को बढ़ा सकता है। मसालेदार और तली हुई खाद्य पदार्थों के सेवन करने से एसिडिटी की समस्या हो जाती है और दैनिक दिनचर्या की गड़बड़ी के कारण भी ये समस्या होती है। अजवायन का बीच और काले नमक की मदद से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। इनमें पाए जाने वाले पोषक तत्व एसिडिटी की समस्या से निजात दिला सकता है। आइए जानते हैं अजवायन और काला नमक पेट की एसिडिटी के लिए किस तरह प्रभावी हो सकता है। [ये भी पढ़ें: रुखे और शुष्क हाथों की देखभाल के लिए करें ये घरेलू उपचार]

अजवायन में पाए जाने वाले तत्व:
benefits of Carom seeds and Black salt for Acidityअजवाइन के बीच में प्रोटीन, फैट, मिनरल, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट का एक समृद्ध स्रोत है। इसमें कैल्शियम, थायमिन, राइबोफ्लेविन, फॉस्फोरस, आयरन और नियासिन भी मौजूद होता है। इसमें थायमोल, पैरा सियामाइन, पिनेन और टरपीनिन जैसे बायोकेमिकल कंपाउंड भी शामिल होता है। ये सारे तत्व पेट की एसिड रिफ्लक्स को कम करता है और पेट में होने वाली गैस से राहत दिलाने में भी मदद करता है। इसके अलावा ये पेट फुलना और पाचन शक्ति को भी बेहतर करता है।

काला नमक में पाए जाने वाले तत्व:
benefits of Carom seeds and Black salt for Acidityकाला नमक में सोडियम क्लोराइड, मैग्नीशियम और मिनरल मौजूद होता है जो पेट से जुड़ी समस्या जैसे-एसिडिटी, कब्ज और दस्त से राहत दिलाता है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व पेट की सूजन और दर्द से भी राहत दिलाता है और एसिडिटी की समस्या को कम करता है। [ये भी पढ़ें: एक्जिमा के उपचार के लिए करें नीम का इस्तेमाल]

अजवायन और काला नमक का रेसिपी:
benefits of Carom seeds and Black salt for Acidity3 से 5 चम्मच काला नमक और अजवाय लें। उसे अच्छी तरह फ्राई कर लें और मिक्सी में पीस लें। फिर इस पाउडर को गर्म पानी या शहद के साथ पिएं। इस प्रक्रिया को कम से कम 2 से 3 बार रोजाना करें। इससे आपको एसिडिटी से जल्द राहत मिलेगी। [ये भी पढ़ें: पैरों के नाखूनों पर होने वाले फंगस से बचने के जाने कुछ आसान घरेलू उपचार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "