सेहत के लिए गुणकारी है गिलोय

benefits of Giloy

गिलोय में बहुत सारे गुण मौजूद होते हैं जो कई रोगों में लाभ पहुंचाते हैं। गिलोय की पत्त‍ियों में कैल्शि‍यम, प्रोटीन और फॉस्फोरस बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है, इसके अलावा इसके तनों में स्टार्च की भी भरपूर मात्रा होती है। गिलोय एक पावर ड्रिंक भी होता है जो इम्यून सिस्टम(रोग प्रतिरक्षा प्रणाली) को मजबूत बनाता है। गिलोय शरीर के प्लेटलेट्स को भी बढ़ाता है। गिलोय के पत्ते पान के पत्तों की तरह दिखते हैं। इसे अमृता, गुडुची, और चक्रांगी भी कहते हैं। आइए जानते हैं कि गिलोय और किस तरह से शरीर को लाभ पहुंचाता है। [ये भी पढ़ें: सेहत के लिए फायदेमंद है हल्दी की चाय]

1.इम्यूनिटी बढ़ाता है: गिलोय में एंटी-पाइरेटिक कम्पाउंड होता है जो क्रोनिक बुखार से बचाता है। गिलोय में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो स्वास्थ्य में सुधार लाता है और कई खतरनाक रोगों से लड़ने की शक्ति भी देता है। गिलोय गुर्दे और लीवर के सारे विषाक्त पदार्थों को दूर करता है।

2.खून की कमी को दूर और साफ करता है: गिलोय में एंटी-फंगल और एंटी वायरल गुण होते हैं, जो शरीर से खून को साफ करता है। गिलोय शरीर की इम्यूनिटी को भी बढ़ाता है और शरीर में खून की मात्रा को भी बढ़ाता है। रोज़ सुबह-शाम गिलोय के रस को शहद में मिलाकर पीने से आपके शरीर में खून की कमी दूर होती है और आपके शरीर को ताकत भी मिलती है। [ये भी पढ़ें: जानें शहद से होने वाले प्राकृतिक फायदें]

3.पीलिया में फायदेमंद: गिलोय एक शक्तिशाली इम्यूनो-मॉड्युलर और एंटी-पाइरेटिक होता है, जो बहुत सी बीमारियों में फायदेमंद होता है। गिलोय का पत्ता पीलिया रोग में बहुत ही फायदेमंद होता है। 1 चम्मच गिलोय, 1 चम्मच शहद और त्रिफला को मिलकर खाने से पीलिया जैसा रोग दूर हो सकता है।

4.गैस की परेशानी को दूर करें:  गैस, जोड़ों का दर्द और शरीर का टूटना बुढ़ापे में बहुत परेशान करता है। गिलोय को एक चम्मच घी में डालकर पीने से आप इन सारी परेशानियों से दूर हो जाएंगे।

5. टीबी का इलाज: गिलोय एक शक्तिशाली इम्यूनो-मॉड्युलर जो टीबी जैसी बीमारियों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। गिलोय के पत्ते का रस, शहद और इलायची को मिलाकर पीयें। इससे आपको बहुत ही जल्द राहत मिलेगी।

6. खुजली से राहत: गिलोय के पत्ते को पीस ले और हल्दी के साथ मिलाकर लगाने से आपको खुजली से राहत मिल जाएगी। गिलोय का जूस पीने से खून भी साफ होता है।

7.प्लेटलेट्स कांउट: डेंगू, चिकनगुनिया और बर्ड फ्लू जैसे खतरनाक बीमारियों का सबसे बड़ा कारण शरीर में प्लेटलेट्स कम होना होता है। शरीर में प्लेटलेट्स की मात्रा को बढ़ाने के लिए आप गिलोय का पत्ता, तुलसी का पत्ता, पपीते का पत्ता और एलोवेरा डालकर जूस बनाए और सप्ताह में कम से कम 2 से 3 बार पिएं। इससे आपके प्लेटलेट्स बहुत ही तेज़ी से बढ़नी शुरू हो जाएगी।[ये भी पढ़ें : हींग के सेवन से हो सकते हैं ये चमत्कारी फायदे]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "