हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए हर्ब्स

Herbs To Balance Your Hormones Naturally

हॉर्मोन के असंतुलित होने के कारण चिंता, पेट फुलना, थकान या फिर वजन बढ़ने जैसी समस्या महसूस होने लगती है। हार्मोन हमारे ऑर्गेनिज्मन को बढ़ाना देने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, क्योंकि वे हमारे मूड, मेटाबॉलिज्म, पाचन, रिप्रोडक्शन, रेस्पिरेशन, टिशू फंक्शन और तनाव को नियंत्रित करने में मदद करता है। तनाव, जेनेटिक्स, मेडिकल हिस्ट्री, प्रदीषण और सही आहार का सेवन ना करने की वजह से हॉर्मोन असंतुलित हो सकते हैं। इसके अलावा हॉर्मोन के असंतुलित होने के कारण बालों का झड़ना, डिप्रेशन, मूड में बदलाव आना, लो लिबिडो या फिर नींद में कमी होना जैसी समस्या होने लगती है। लेकिन कुछ ऐसी जड़ी-बूटियां होती हैं जिनमें पाए जाने वाले पोषक तत्व हॉर्मोन को संतुलित करने में मदद करती है और साथ ही शरीर को भी स्वस्थ रखती है। आइए हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए हर्ब्स के बारे में जानते हैं।  [ये भी पढ़ें: बालों को तेजी से बढ़ाने और स्वस्थ बनाने के लिए उपयोगी हर्ब्स]

रैस्पबेरी:
रैस्पबेरी में विटामिन और मिनरल होता है जो हॉर्मोन को संतुलित रखने में मदद करता है। ये एक प्रकार का यूटेरिन टॉनिक होता है जो फर्टिलिटी को बढ़ाता है, मिस्कैरेज होने से बचाता है और साथ ही मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स और पीरियड्स के दौरान रक्त के तेज बहाव को भी कम करने में मदद करता है।

माका:
माका शरीर के पीट्यूटरी और हाइपोथैलेमस ग्लैंड को उत्तेजित करता है और इन ये शरीर के ग्लैंड्स को रेगुलेट करने में मदद करता है। इसके अलावा ये लिबिडो को भी बूस्ट करता है। माका हॉर्मोन को उत्तेजित करता है और अडैपटोजेनिक एजेंट को हटाटा है।  [ये भी पढ़ें: किडनी को साफ करने के लिए उपयोगी हर्ब्स]

अश्वगंधा:
अश्वगंधा एक नेचुरल अडैपटोजेन होता है जो हॉर्मोनल इम्बैंलेंस, एड्रेनल और थॉयरॉयड को संतुलित करने में मदद करता है। इसके अलावा अश्वगंधा तनाव, हाइपोथॉयरॉडिज्म और हाईपरथॉयरॉयड को भी नियंत्रित करता है। अश्वगंधा मूड को भी बेहतर करता है और डिप्रेशन की समस्या को कम करता है।

थाइम:
थाइम प्रोजेस्टेरोन के उत्पादन को बेहतर करता है जो हॉर्मोन को संतुलित करता है और इन्फर्टिलिटी, मेनोपॉज, डिप्रेशन, फाइब्रॉयड्स, बालों का झड़ना और नींद ना आने की समस्या से भी राहत प्रदान करता है। इसके अलावा यह लिबिडो को भी बूस्ट करने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें: केसर के सेवन से शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "