वजन कम करने के लिए स्वास्थ्यवर्धक हर्ब्स

Read in English
healthy-herbs-for-weight-lose-

वजन कम करने के लिए योग, एक्सरसाइज, वर्कआउट करने के साथ-साथ खानपान का खास ख्याल रखना पहुत जरुरी होता है। वजन कम करने के लिए कम कैलोरी वाले पोषक तत्वों युक्त खाद्य पदार्थों के साथ कुछ हर्ब्स का सेवन करना भी लाभकारी होता है। जड़ी-बूंटियां प्राचीनकाल से ही लोगों की स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने के लिए प्रयोग की जाती रही है। हर्ब्स का सेवन करने के साइड-इफेक्ट्स भी नहीं होते हैं इसलिए आइए जानते हैं कि वजन कम करने के लिए किन-किन हर्ब्स का सेवन लाभकारी होता है। [ये भी पढ़ें: धनिया पत्ती के स्वास्थ्यवर्धक लाभ]

1.ह्लदी: वजन कम करने के लिए हल्दी उपयोगी होती है। हल्दी मे कुरकुमिन होता है जो कि एक शक्तिशाली और एक्टिव तत्व होता है। कुरकुमिन के कारण हल्दी की तासीर गर्म होती है। हल्दी का सेवन करने से मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है जिससे तेजी से फैट बर्न करने में मदद मिलती है। इसी के साथ घावों को तेजी से भरने में हल्दी का सेवन लाभकारी होता है।

2.दालचीनी: दालचीनी एक स्वास्थ्यवर्धक हर्ब होता है जो कि ब्लड शुगर के स्तर को बैलेंस करता है। ब्लड शुगर का स्तर कम होने से बहुत ज्यादा कार्ब खाने का मन नहीं करता और पेट भरा हुआ रहता है इसलिए दालचीनी का सेवन वजन कम करने के लिए फायदेमंद होता है। इसे योगर्ट के साथ खाएं, दालचीनी की चाय पीना भी सेहत के लिए उपयोगी होता है। [ये भी पढ़ें: मेथी के पत्तों का सेवन स्वास्थ्य के लिए होता है लाभकारी]

3. अदरक: अदरक में भी ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के गुण होते हैं। इससे रक्त में ग्लूकोस का स्तर बढ़ता नहीं है जिससे आपको बहुत ज्यादा भूख नहीं लगती और आप निश्चित मात्रा में ही खा पाते हैं। साथ ही इससे कार्ब और शुगर युक्त खाद्य पदार्थ खाने की क्रेविंग नहीं बढ़ती जो कि शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। वजन कम करने के लिए अदरक का सेवन उपयोगी होता है।

4.मेषश्रृंगी: वजन को कम करने के लिए भी इस हर्ब का सेवन लाभकारी होता है। इसमें मौजूद एसिड मीठा खाने की इच्छा और भूख को कम करते हैं साथ ही ब्लडशुगर को नियंत्रित करने में भी मदद करता हैं। इसलिए मेषश्रृंगी का सेवन वजन कम करने के लिए उपयोगी होता है।

5. गुड़हल: गुड़हल के फूल की चाय वजन कम करने में मदद करती है। इस चाय को पीने से स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट का अवशोषण कम हो जाता है जिससे मोटापा बढ़ने का खतरा भी कम हो जाता है। [ये भी पढ़ें: केसर के सेवन से शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "