किचन के लिए जरुरी सूखे मसाले जो स्वाद और स्वास्थ्य दोनों को बढ़ाते हैं

Read in English
Dry spices required for the kitchen which enhance both flavor and health asr

मसालों की जरुरत खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए होती है। अगर खाने को पकाने के साथ-साथ मसाले उसमें ना डाले तो खाने को खाना लगभग नामुमकिन हो जाता है। खाने में महक, स्वाद का तड़का मसाले ही देते हैं। सिर्फ ताजा ही नहीं बल्कि सूखे मसाले भी बहुत उपयोगी होते है। सूखे मसालों को आप अपने किचन में हरदम रख सकते हैं क्योंकि ये लंबे समय तक टिकते हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसे सूखे मसालों के बारे में बताने जा रहें हैं जो स्वाद के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होते हैं।[ये भी पढ़ें: हरसिंगार का उपयोग किन स्वास्थ्य समस्याओं में हैं लाभकारी]

1. ऑरिगेनो: पिज्जा को खाने के लिए ऑरिगेनो का उपयोग किया जाता है। ज्यादातर इटालियन खाने में प्रयोग किए जाने वाला ऑरिगेनो बहुत ही स्वादिष्ट तो होता है साथ ही इसमें एंटी-ऑक्सीडेंटस होते हैं इसलिए ये इम्यून सिस्टम के लिए लाभकारी होता है। साथ ही इसमें एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं। इसलिए भी यह शरीर के लिए उपयोगी होता है।

2. रोजमेरी: बेक किए हुए खाने के लिए रोजमेरी काफी उपयोगी होता है ये खाने का स्वाद तो बढ़ाता ही है साथ ही इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण के साथ-साथ पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं। रोजमेरी खाने के स्वाद को बढ़ाने के साथ-साथ इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करता है। इसलिए यह शरीर के लिए उपयोगी होता है।

3. पार्सले: पास्ता, सैंडविच, सूप आदि में इसका इस्तेमाल बहुतायत होता है। अंडे और ऑमलेट को स्वादिष्ट बनाने के लिए भी इसका उपयोग होता है। इसमें विटामिन A,K,C E,B12,B6 तो होते ही हैं साथ ही इसमें कैल्शियम, आयरन और मैग्नीशियम भी होता है। इसलिए ये स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होता है। इसकी मौजूदगी किचन में मसालों को खास बनाती है।[ये भी पढ़ें: लीड ट्री से होने वाले स्वास्थ्य लाभ]

4. मिंट: कढ़ी और शोरबे में उपयोग किए जाने वाला ये सबस उपयोगी हर्ब होता है। हमेशा ताजा पुदीना उपलब्ध नहीं हो पाता है इसलिए सूखे पुदीने का प्रयोग किया जाता है। इसे सलाद, रायते और मशरुम में मिलाकर भी प्रयोग में ले सकते हैं। यह पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाता है और साथ ही इंफ्लेमेशन से भी पेट की रक्षा करता है।

5. डिल: डिल एक फ्लेवर बूस्टर का काम करता है यह फिश, चटपटी और करारी सब्जियों में पड़ता है। साथ ही ये फल और योगर्ट आदि में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसे ऑमलेट, चीज, स्टीम फिश और सैंडविच आदि में उपयोग किया जाता है। डिल में कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन भी भरपूर होता है साथ ही एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुणों के कारण ये आपके शरीर के लिए काफी उपयोगी होता है। इसे किचन में रखना खाने और स्वास्थ्य दोनों के लिए लाभकारी होता है।[ये भी पढ़ें: लहसुन और लौंग को भूनकर खाने से क्या फायदे होते हैं]

 

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "