औषधीय गुणों वाले इन हर्ब्स का इस्तेमाल करें और छोटी मोटी बीमारियों को कहें अलविदा

amazing herbs you can use daily

Photo Credit: 1cent1life.com and natbg.com

जड़ी-बूटियों का उपयोग हमारे स्वास्थ्य को बेहतर करने के लिए भी किया जाता है। हर्ब्स में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक गुणों वाले कई पोषक तत्व होते हैं जो स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याओं का एक बेहतर विकल्प होता है। हर्ब्स के सेवन से अर्थराइटिस, ब्लड शुगर और कोलेस्टॉल जैसी समस्याएं भी नियंत्रित हो सकती हैं। आइए जानते हैं वो कौन से हर्ब्स हैं जिनका रोज इस्तेमाल करना हमारे सेहर के लिए फायदेमंद होता है। [ये भी पढ़ें: अल्फल्फा के स्वास्थ्य लाभ]

पार्सले: पार्सले में एंटीऑक्सीडेंट्स उच्च मात्रा में होता है जो किडनी और ब्लैडर के सूजन से राहत देने में मदद करता है। इसमें ड्यूरेटिक इफेक्ट होता है जो कब्ज की समस्या के लिए एक प्रभावी उपाय है। यह शरीर के लिए सामान्य टॉनिक के रूप में भी कार्य करता है और पाचन में मदद करता है। इसमें विटामिन भी होता है जो हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

ओरेगानो: ओरेगानो में तेल होता है जिनमें एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं। इन तेलों में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं। ओरेगानो मासिक धर्म के दौरान होने वाली ऐंठन और पेट दर्द को कम करने में भी मदद करता है। इसमें ड्यूरेटिक इफेक्ट भी होता है जो बलगम को साफ करने में मदद करता है इसलिए यह सर्दी, फ्लू, सिरदर्द और श्वास समस्याओं के लिए सहायक हो सकता है। [ये भी पढ़ें: त्वचा,बालों और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है ओरिस रुट]

धनिया: धनिया बीज का प्रयोग अनिद्रा और चिंता के इलाज के लिए किया जाता है। धनिया याददाश्त को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है और साथ ही बुखार और एलर्जी को कम करने में भी प्रभावी होता है। इसमें माइक्रोबियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं और साथ ही एक शक्तिशाली डिटॉक्सिफाइंग एजेंट की तरह भी काम करता है। इंसुलिन के स्तर को नियंत्रित करना, कोलेस्ट्रॉल को कम करना और सिरदर्द से राहत प्रदान करता है।

अजवायन: अजवायन बलगम को साफ करने में मदद करता है जो अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, खांसी, फ्लू और साइनस संक्रमण के लिए एक बेहतर विकल्प होता है। यह पाचन में भी मदद करता है। एक टॉनिक और एंटीऑक्सीडेंट है जो गले में खराश और गम रोग का इलाज करने के लिए प्रभावी होता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण भी होता है जो शरीर को बैक्टीरिया से बचाता है।

तुलसी: तुलसी पाचन को आसान बनाता है और सिरदर्द और अनिद्रा के लिए भी एक अच्छा उपाय होता है। तुलसी की पत्तियों के तेल में पाचन तंत्र और जोड़ों के लिए एंटी-इंफ्लेमेट्री प्रभाव होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और ड्यूरेटिक इफेक्ट होता है।[ये भी पढ़ें: करी पत्ता के सेवन से आपको मिलेंगे ये स्वास्थ्य लाभ]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "