फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी हर्ब्स

amazing herbs to improve lungs health

फेफड़े हमारे शरीर के मुख्य अंगों में से एक होता हैं। फेफड़ों का काम शरीर में श्वसन के माध्यम से ऑक्सीजन ग्रहण करना और कार्बन-डाइ-ऑक्साइड को बाहर निकालना होता है। इसलिए फेफड़ों को स्वस्थ रखना आपके लिए बहुत आवश्यक होता है। मगर वायु प्रदूषण, धम्रपान जैसी कई चीजें ऐसी होती है जो कि फेफड़ों को बुरी तरह से प्रभावित करती है। फेफड़ों के खराब होने से अस्थमा, ब्रोकाइंटिस, टीबी जैसी कई खतरनाक बीमारियां हो सकती है। इसलिए अपने फेफड़ों के स्वास्थ्य का ख्याल रखना आपके लिए आवश्यक होता है । आइए जानते हैं कि किन-किन हर्ब्स का इस्तेमाल आप अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए कर सकते हैं।[ये भी पढ़ें: कलौंजी का सेवन स्वास्थ्य के लिए होता है लाभकारी]

ओरिगेनो: ओरिगेनो में विटामिन और पोषक तत्वों के साथ-साथ रोज़मिरेनिक एसिड भी होता है। ये सभी तत्व प्राकृतिक रुप से हिस्टामिन को कम करते हैं। साथ ही श्वसन तंत्र पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। ओरिगेनो के सेवन से नेजल पैसेज से ऑक्सीजन के प्रवाह को भी सुचारु रखने में मदद मिलती है।

पिपरमेंट: पिपरमेंट में मिन्थॉल होता है। यह मसल्स को रिलेक्स करके श्वसन प्रणाली को आसान बनाने के लिए उपयोगी होता है। मिन्थॉल सर्दी- खांसी के लिए एक बेहतर दवा है। पिपरमेंट में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट फेंफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी होते हैं।[ये भी पढ़ें: रोजमेरी का सेवन है स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद]

ओशा रुट: पथरीले पहाड़ों पर पाये जाने वाला ओशा रुट फेफड़ों को और श्वसन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए काफी उपयोगी होता है। इनमें कपूर के गुण होते साथ ही इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण फेफड़ों को बैक्टीरिया से बचाकर रक्त संचरण को बढ़ाने में मदद करते हैं।

मुलेठी: मुलेठी अंदर से पीली, रेशेदार और हल्की गंध वाली होती है। मुलेठी में सुक्रोज़, ग्लूकोज़, रेजींन और स्टार्च होती है जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। इसे चूसने से यह श्वसन तंत्र को साफ करने में मदद करती है और श्वसन को आसान बनाती है। मुलेठी में एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण भी होते हैं इसलिए फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए आप मुलेठी को शहद के साथ चूस सकते हैं या मुलेठी की चाय पी सकते हैं।

लोबेलिआ: लोबेलिआ को इंडियन तंबाकू भी कहा जाता है लेकिन यह तंबाकू नहीं हैं। इसमें एल्केनॉइड मौजूद होते हैं जो श्वसन तंत्र में जमा कफ को पतला करके निकालने में मदद करते हैं। पानी में इस पादप की पत्तियां उबालकर स्टीम लेने से फेफड़ें साफ और स्वस्थ होते हैं।[ये भी पढ़ें: किचन के लिए जरुरी सूखे मसाले जो स्वाद और स्वास्थ्य दोनों को बढ़ाते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "