बालों के विकास के लिए जूस

healthy juices for hair growth

बाजार में कई तरह के शैम्पू और हेयर पैक मिलते हैं जिनसे बालों को मजबूत और लंबा किया जा सकता है। लेकिन इन शैम्पू और सीरम में केमिकल होते हैं जो बालों के लिए हानिकारक होते हैं। बालों के विकास के लिए घर पर ही कुछ चीजों की मदद ली जा सकती है। कुछ स्वस्थ जूस का सेवन आपके बालों के विकास, शाइनी और मजबूत बनाने में मदद करते हैं। बालों के विकास के लिए यह नेचुरल पदार्थ स्कैल्प पर इस्तेमाल किए जाते हैं। इससे बाल के साथ स्कैल्प भी स्वस्थ रहते हैं। इन जूस को अपनी रोजाना की डाइट में शामिल करने से बालों से संबंधित सभी समस्याओं को दूर किया जा सकता है। तो आइए आपको इन जूस के बारे में बताते हैं जो बालों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। [ये भी पढ़ें: स्वस्थ माने जाने वाले पेय जो वास्तव में आपके लिए हानिकारक होते हैं]

एलोवेरा जूस: एलोवेरा जूस बालों के झड़ने की समस्या को दूर करने में मदद करता है। एलोवेरा में मौजूद विटामिन बालों को मजबूत बनाते हैं। साथ ही एलोवेरा जूस में मौजूद एंजाइम स्कैल्प को पोषक प्रदान करते हैं। एलोवेरा जूस से ड्रैंड्रफ और सिर में होने वाली खुजली को दूर करने में मदद करता है। बालों के विकास के लिए एलोवेरा जूस काफी फायदेमंद होता है।

प्याज का जूस: प्याज के जूस को सीधे स्कैल्प पर लगाकर बालों के विकास को बढ़ाया जा सकता है। प्याज का जूस सफेद बालों से भी रोकथाम करता है। प्याज में सल्फर होता है जो फॉलिक्स को पोषक तत्व प्रदान करते हैं। [ये भी पढ़ें: तुलसी की चाय के स्वास्थ्य लाभ]

खीरे का जूस: खीरे का जूस बालों की सही तरीके से विकास और गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करता है। खीरे के जूस में मौजूद एंजाइम बालों का झड़ना रोकने में मदद करते हैं। साथ ही बालों के सेल्स और फॉलिकल्स में हीमोग्लोबिन का सर्कुलेशन बढ़ाते हैं। रोजाना एक गिलास खीरे के जूस का सेवन बालों की समस्याएं रोकने में मदद करता है।

स्ट्राबेरी जूस: इस जूस को बनाने के लिए इसमें खीरा और गाजर भी मिला लें। स्ट्राबेरी में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो बालों के विकास में मदद करता है।

गाजर का जूस: गाजर के जूस में बहुत सारे पोषक तत्व और बीटा-कैरोटिन होता है जो बालों को अच्छा रंग प्रदान करता है। इससे बालों की गुणवत्ता में सुधार होता है। विटामिन सी स्कैल्प को पोषक तत्व प्रदान करते हैं जो बालों के विकास के लिए फायदेमंद होता है। [ये भी पढ़ें: घर पर गुलाब की पत्तियों से वाइन कैसे बनाएं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "