दालचीनी का पानी पीने से होने वाले स्वास्थ्य लाभ

health-benefits-of-cinnamon-water

दालचीनी का इस्तेमाल भारतीय घरों में काफी मात्रा में किया जाता है। दालचीनी में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण शरीर के लिए लाभकारी होती है। दालचीनी में मौजूद पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स के कारण यह शरीर की बीमारियों से रक्षा करता है। दालचीनी का पानी भी स्वास्थ्य के लिए काफी उपयोगी होता है। इसके लिए पानी को उबालकर ठंडा कर लें उसके बाद दालचीनी के कुछ टुकड़े पानी में डालकर रातभर के लिए रख दें। अब सुबह उठकर इस पानी को पिएं। आइए जानते हैं दालचीनी के पानी के स्वास्थ्यवर्धक लाभ के बारे में।[ये भी पढ़ें: ग्रीन टी के प्रकार जो आपके लिए सेहतमंद होते हैं]

1.एंटीऑक्सीडे्ंटस से भरपूर होता है: दालचीनी में पॉली-फिनॉल जैसे शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण कोशिकाओं को पहुंचने वाली क्षति से पॉली-फिनॉल बचाने में मदद करता है। साथ ही रक्त शिराओं के दबाव को कम करता है। इन्हीं वजहों से पॉली-फिनॉल से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे ग्रीन-टी, दालचीनी का पानी ब्लड प्रेशर,तनाव आदि को कम करते हैं।

2.बैक्टीरिया और फंगल इंफेक्शन से बचाता है: एक अध्ययन के अनुसार दालचीनी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं। दालचीनी के पानी के ये गुण शरीर में बैक्टीरिया और फंगस के कारण होने वाले संक्रमण के खतरे को कम करते हैं । दालचीनी का पानी पीने से दांत स्वस्थ रहते हैं और मुंह की बदबू भी कम हो जाती है।[ये भी पढ़ें: ड्रिंक्स जिन्हें पीने से सिरदर्द दूर होता है]

3.सूजन को कम करने के लिए उपयोगी: सूजन एक समस्या है जो त्वचा की कोशिकाओं और ऊतकों को प्रभावित करती है। दालचीनी के पानी में मौजूद पॉली-फिनॉल में एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते है जो कि सूजन की परेशानी को कम करता है। यहीं कारण है कि दालचीनी का पानी बीमारियों के खतरे को कम करता है।

4.पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करता है: दालचीनी के पानी में एनाल्जेसिक और ऐन्टेकोऐग्यलन्ट गुण होते हैं जो कि पीरियड्स के दौरान रक्त का थक्का जमने से रोकते हैं । एक अध्ययन के अनुसार पीरियड्स के दौरान दालचीनी का पानी पीने से पीरियड्स के दौरान होने वाला दर्द कम होता है।

5.दिल की बीमारियों के खतरे को कम करता है: एलडीएल(लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन) कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का स्तर अधिक होने से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। दालचीनी का पानी पीने से एलडीएल(लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन) कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है जबकि एचडीएल(हाई-डेंसिटी लिपोप्रोटीन) का स्तर स्थाई रहता है। ऐसे में रक्त शिराओं से तनाव को कम करने के साथ-साथ दालचीनी का पानी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है इसलिए इसका सेवन करने से दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। [ये भी पढ़ें: नींबू पानी से जुड़े मिथक]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "