आईस्ड टी के सेवन से मिलते हैं ये लाभ

amazing health benefits of iced tea

आईस्ड टी नियमित तौर पर इस्तेमाल की जाने वाली चाय का ही एक प्रचलित रूप है जिसे ठंडा करके या बर्फ के साथ तैयार किया जाता है। आमतौर पर, आईस्ड टी ब्लैक, या ग्रीन टी से बनाई जाती है। हालांकि आप हर्बल टी को भी बर्फ के साथ तैयार करके आईस्ड टी बना सकते हैं। दुनियाभर में आईस्ड टी की विभिन्न किस्में मौजूद हैं। इसका स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें अक्सर नीबू, आड़ू, चेरी, नारंगी आदि का फ्लेवर मिलाया जाता है। आईस्ड टी में पाएं जाने वाले पोषक तत्व आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। [ये भी पढ़ें: खीरे का पानी आपके स्वास्थ्य को देता है ढ़ेरों लाभ]

आइस्ड टी में पाएं जाने वाले पोषक तत्व:  सामान्य आइस्ड ब्लैक टी में पोटेशियम, डाइटरी फाइबर, मैगनीज, कैफीन, फ्लोराइड, फ्लेवोनोइड और अन्य कई एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते हैं। अन्य किस्म की आईस्ड टी जैसे ग्रीन टी या हर्बल टी में अलग-अलग पौष्टिक तत्व होते हैं।

आइस्ड टी बनाने के लिए आपको क्या चाहिए: इसके लिए निम्न सामग्रियों की आवश्यकता होगी-

  • सामान्य ब्लैक टी के चार टी बैग
  • 6-8 कप पानी
  • नींबू के चार स्लाइस

कैसे बनाएं:  आईस्ड टी बनाना काफी आसान है। हालांकि इसकी कई किस्में हो सकती है। इसे बनाने का तरीका इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप चाय कितनी कड़क बनाना चाहते हैं और इसका स्वाद कैसा चाहते हैं। नीचे दिए गए आसान तरकी से आप आईस्ड टी बना सकते हैं। [ये भी पढ़ें: करेले के जूस से होने वाले स्वास्थ्य लाभ]

  • एक स्टेनलेस स्टील के बर्तन में पानी को उबाल लें।
  • एक उबाल आने के बाद आंच को धीमा कर दें और पानी में टी बैग डालें।
  • चाय को 10-12 मिनट तक उसमें उबलने दें।
  • आंच से उतार लें और चाय को 5-10 मिनट के लिए ठंडा होने दें।
  • चाय को बर्फ के ऊपर डालें।
  • इसमें नींबू के स्लाइस को डालें और चाय को 3-5 मिनट तक ठंडा होने दें।

आईस्ड टी से होने वाले स्वास्थ्य लाभ: आईस्ड टी के सेवन से आपकी सेहत को निम्न लाभ हो सकते हैं-

वजन घटाना:  आईस्ड टी में कैलोरी और शुगर की मात्रा बहुत कम होती है जो कि आपके वजन घटाने के प्रयासों में सहायता करती है। खासकर कि उन लोगों के लिए जिन्हें मीठे और शुगरी पेय पदार्थ पीने की आदत है।

मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली:  आईस्ड टी में पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट्स और पोषक तत्व प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर तरीके से कार्य करने के लिए उत्तेजित करते हैं। जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली आपके शरीर को कई रोगों और संक्रमणों से बचा पाती है।

हृदय रोगों का खतरा कम:  आईस्ड टी में मौजूद फ्लैवोनोइड एक बेहतर एंटी-ऑक्सीडेंट हैं, जो दिल की धमनियों और रक्त वाहिकाओं के ऊतकों में होने वाली सूजन को कम करता है जिससे हृदय संबंधी रोगों को रोकने में मदद मिलती है साथ ही किसी अन्य स्वास्थ्य समस्या के प्रभाव को भी कम करता है।

डायबिटीज को कम करने में मदद:  यदि आप शक्कर डालें बिना आईस्ड टी का सेवन करते हैं तो ब्लैक टी में पाए जाने वाले तत्व आपके रक्त में शुगर के स्तर को नियंत्रित रखते हैं साथ ही शरीर के इंसुलिन रेसिसटेंट को बढ़ाने में मदद करते हैं।

शरीर को फ्री रेडिकल्स से मुक्त करती है:  ब्लैक टी में कई महत्वपूर्ण तत्व मौजूद होते हैं जैसे फ्लेवोनोइड, विटामिन सी और पोटेशियम जो आपके शरीर से फ्री रेडिकल्स को बाहर निकालते हैं। ये फ्री रेडिकल्स आपके शरीर में तनाव उत्पन्न करने का कारण बन सकते हैं साथ ही टिशू में सूजन बढ़ाने के लिए भी जिम्मेदार होते हैं। [ये भी पढ़ें: इस मैजिक ड्रिंक से 5 दिन में घटाएं वजन]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "