Daily Life Stress: रोजाना के कौन से काम तनाव पैदा करते हैं

Read in English
everyday things you do that increase your stress

कभी कभी तनाव किसी बाहरी कारण से नहीं बल्कि आपके ही कारण होता है।

Daily Life Stress: अधिकतर बार हम सोचते हैं कि तनाव किसी बाहरी समस्या का परिणाम है और इसका हमारे आंतरिक संघर्ष से कोई लेना देने नहीं है। हालांकि, यह हमेशा सच नहीं होता है। अक्सर हम अपनी गलतियों को नहीं पहचानते और तनाव का शिकार हो जाते हैं। तनाव एक मानसिक स्थिति है जो दबाव और चिंता का परिणाम होती है। अधिकतर लोग अपने जीवन से जुड़ी ऐसी चीजों के बारे में सोचते हैं जो ठीक नहीं चल रही होती हैं या जो चीजें भविष्य में अच्छी तरह से नहीं हो सकती हैं। ऐसे मामलों में, तनाव किसी बाहरी कारण से नहीं बल्कि आपके ही कारण होता है। ऐसी कई चीजें हैं जो हम खुद करते हैं और ये चीजें तनाव पैदा कर सकती हैं। ये चीजें हमारे जीवन का हिस्सा होती हैं। आइए जानते हैं रोजाना के कौन से काम तनाव पैदा करते हैं। [ये भी पढ़ें: तनाव को बढ़ाने वाली आदतें]

Daily Life Stress: रोजाना के काम जो आपके तनाव का कारण हो सकते हैं

  • खुद से नकारात्मक बातें करना
  • असली समस्या का सामना नहीं करना
  • निराशावादी होना
  • अधिक सोचना

खुद से नकारात्मक बातें करना
जिस तरह से आप खुद से बात करते हैं वह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। अधिकतर समय पर तनाव आपकी नकारात्मक सोच और खुद से नकारत्मक बात करने का परिणाम होता है। जब आप नकारात्मक विचारों और सोच पर ध्यान देते हैं, तो आप वास्तव में तनाव को बुलावा देते हैं।

असली समस्या का सामना नहीं करना
हम जीवन में कई बार मुश्किल परिस्थितियों का सामना करते हैं। ये परिस्थितियां अक्सर तनाव का कारण बनती हैं। जब आपके सामने ऐसी स्थिति आती है को इस स्तिथि को समझना, सामना करना महत्वपूर्ण है। जितना अधिक आप इनसे भागेंगे, उतना ही आपका मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित होगा।

निराशावादी होना

What are the everyday things you do that increase your stress
निराशावादी लोग अक्सर तनाव में रहते हैं।

निराशावादी लोग अक्सर हर किसी परिस्थिति के नकारात्मक पहलू पर ध्यान केंद्रित करते हैं। जीवन के प्रति इस प्रकार का दृष्टिकोण रखना हानिकारक है। जब आप केवल नकारात्मक चीजों के बारे में सोचते हैं, तो आप तनाव का शिकार होना शुरू करते हैं। इस तरह की सोच से मन को विश्वास होता है कि कोई रास्ता नहीं बचा है। नतीजतन, आपका दिमाग तनाव को स्वीकार करता है।

अधिक सोचना
अधिक सोचने का मतलब है कि छोटी चीजों को बड़ा महत्व देना। कुछ लोगों को आदत होती हैं कि वो छोटी चीजों के बारे में भी अधिक सोचते रहते है। नतीजतन, वो अपनी जिंदगी में तनाव खुद पैदा करते हैं।

[जरुर पढ़ें: संकेत कि आप दूसरों का तनाव ले रहे हैं]

तनाव आपके मानसिक स्वास्थ्य के साथ शारीरिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है। इसलिए इससे दूर रहने की कोशिश करें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "