कैसे तनाव कर सकता है आपकी वर्क परफॉर्मेंस को प्रभावित

know how stress affects you at your work performance

तनाव का प्रभाव हमारी जिंदगी के हर पहलू पर नज़र आता है चाहें फिर वो शारीरिक हो या मानसिक, पर्सनल हो या प्रोफेशनल। तनाव यदि नियंत्रित हो तो काफी अच्छा हो सकता है लेकिन अगर यह कंट्रोल से बाहर हो जाए तो आपको इसका नुकसान झेलना पड़ सकता है। तनाव से इंसान के प्रोफेशनल परफॉर्मेंस पर भी काफी असर पड़ सकता है। वर्कप्लेस पर तनाव होना काफी आम है क्योंकि वहां आपको कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है चाहें आप किसी भी लेवल पर क्यों ना हो। [ये भी पढ़ें: एक नहीं बल्कि कई प्रकार के होते हैं तनाव]

काम करने वाली जगह पर स्ट्रेस बहुत से कारणों से हो सकता है, बॉस की डिमांड की वजह से या परेशान करने वाले सहकर्मी, ग्राहकों का गुस्सा या कभी ना खत्म होने वाला वर्कलोड। इन कारणों से होने वाला तनाव आपके परफॉर्मेंस को खराब करते हैं। आपके परिवार में चल रही परेशानियां, फाइनेंस को लेकर चिंता, नींद कम लेना और संबंधों के चलते भी आपकी काम करने क्षमता पर असर पड़ता है जो सीधे तौर पर तनाव से जुड़े होते हैं। तो आइए जानते हैं कि तनाव आपके वर्क परफॉर्मेंस के लिए किस तरह से नुकसानदेह है।

समय का प्रबंधन:
know how stress affects you at your work performance तनाव का एक सकारात्मक प्रभाव ये हैं कि यह आपको ऐसी अवस्था में लाता है जिससे आप किसी भी कार्य को समय पर करने के लिए तैयार हो जाते हैं और हर टास्क को मैनेज करने में समर्थ होते हैं। अच्छा तनाव आपको प्रेरित करता है कि आप समय के प्रबंधन को महत्व दें। इसके विपरीत काम का बोझ, सहकर्मियों से मिलने वाले समर्थन की कमी और एक साथ कई मांग आदि ऐसे फैक्टर हैं जो आपको हताशा और निराशा की भावना तक पहुंचाते हैं। इनके द्वारा आपको यह डर भी बना रहता है कि आपके पास काम को पूरा करने के लिए पर्याप्त समय नहीं है।
इस तरह की भावनाओं के कारण आप खुद की समर्थता को परे करके काम का दबाव अधिक लेने लगते हैं जिससे आपके ऊपर ओवरटाइम, ऑफिस का वर्क घर ले जाना और काम को सही तरह से मैनेज ना कर पाने का दबाव होने लगता है। इन वजहों से कर्मचारियों को कंपनी के प्रति असंतोष होने लगता है साथ ही कंपनी के लिए उनकी निष्ठा पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। [ये भी पढ़ें: लंबे समय तक तनाव कर सकता है आपको नाकारात्मक रूप से प्रभावित]

वर्क प्लेस पर खराब सम्बंध:
know how stress affects you at your work performance ऑफिस या वर्क प्लेस पर बिगड़ते सम्बंधों का एक मुख्य कारण तनाव है। काम के बढ़ते बोझ के कारण आप चिड़चिड़े स्वभाव में आने लगते हैं जिससे सहकर्मियों और सुपरवाइजर्स के साथ आपका बरताव खराब होने लगता है। तनाव की वजह से असहायता और निराशा की भावना उत्पन्न होती है जिसकी वजह से आपके स्वभाव में आलोचना, अवसाद, जॉब इनसिक्योरिटी, ईर्ष्या और सहकर्मियों के प्रति असंतोष आदि लक्षण दिखने लगते हैं। ये लक्षण आपकी सफलता के खिलाफ काम करते हैं।

फोकस: तनाव आपकी याद रखने और फोकस करने की क्षमता को कम कर देता है। जब आप तनाव में होते हैं तो नई सूचनाओं को प्रोसेस करने, नई चीजों को सीखने में परेशानी होने लगते हैं बल्कि उन बातों को याद रखने में भी जो कि आप पहले से जानते हैं।

स्वास्थ्य:
know how stress affects you at your work performance तनाव सिर दर्द, नींद ना आना, विजन प्रॉब्लम्स, वजन बढ़ना या घटना, ब्लड प्रेशर का बढ़ना आदि समस्याओं के साथ-साथ कार्डियोवस्कुलर, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल और मस्कुलोस्केलेटल सिस्टम को भी प्रभावित करता है। अगर आप अच्छा महसूस नहीं कर रहे हैं तो इसका सीधा असर आपके काम पर होगा और आप अपना 100 प्रतिशत नहीं दे पाएंगे जिससे आपकी छवि खराब होगी। इसके कारण आपको और अधिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। [ये भी पढ़ें : जानिए कैसे आपके शरीर को प्रभावित करता है तनाव]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "