रात को होने वाली चिंता को कैसे दूर करें

Read in English
How to deal with night anxiety

रात को होने वाली चिंता के लिए समय पर सोएं

रात में नींद के दौरान चिंता या तनाव होना एक स्लिप डिसऑर्डर होता है। इसे क्लिनिकल टर्म में इन्सोमनिया कहां जाता है, जिसमें लोगों को नींद नहीं आती है या सुबह जल्दी नींद टूट जाती है या फिर सोने में परेशानी महसूस होती है। जिन लोगों को रात में चिंता करने की परेशानी होती है उन्हें दिन में ऐसा महसूस होता है। ऐसे लोग जब सोते हैं तो उनके दिमाग में कई प्रकार की बातें और डर आते रहती हैं और उन्हें अपनी इस सोच पर कोई नियंत्रण नहीं रहता है। जिन लोगों को रात को चिंता की समस्या होती है उनकी नींद रात को अचानक खुल जाती है और कई बार रात को उन्हें पैनिक अटैक भी आता है। रात को चिंता करने वाले लोगों को सपने भी बुरे-बुरे आते हैं और साथ ही उनकी नींद भी पूरी नहीं हो पाती है, जिसकी वजह से उनका स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है। [ये भी पढ़ें: टिप्स जिनकी मदद से 60 सेकेंड में तनाव को दूर करें]

इस आलेख में शामिल हैं:

  • सोने का समय तय करें
  • कैफीन के सेवन को छोड़ दें
  • अपनी परेशानी को कंट्रोल करें
  • सोते वक्त कोई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट साथ ना रखें
  • एल्कोहल के सेवन को छोड़ दें

कैसे रात को होने वाली चिंता को खत्म करें:

सोने का समय तय करें:

How to deal with night anxiety
सही समय पर सोने की कोशिश करें

रात को सोने का एक निश्चित समय तय कर लें, क्योंकि आपका बायोलॉजिकल क्लॉक आपके जीवन को प्रभावित करता है और साथ ही आपके नींद को प्रभावित करता है। जब आपका बायोलॉजिकल क्लॉक सही होता है तो आपकी नींद भी पूरी होती है और साथ ही आपको अच्छी नींद भी आती है। सही समय पर सोने से आपको थकावट भी नहीं होती है। [चिंता से बाहर आने के लिए अपने बच्चे की कैसे मदद करें, जानने के लिए क्लिक करें]

कैफीन के सेवन को छोड़ दें:
कैफीन एक पावरफुल स्टिमुलेंट होता है और हमारा शरीर कॉफी या चाय के प्रभाव को दूर करने में कम से कम 6 घंटा लगाता है। अगर आप कॉफी या चाय का सेवन करना चाहते हैं तो आपको उनका सेवन दिन में करना चाहिए।

अपनी परेशानी को कंट्रोल करें:
यदि आप रात को होने वाली चिंता को नियंत्रित करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने परेशानी को दूर करने की जरूरत है। यदि आप पूरे समय सोचते रहेंगे तो आपकी समस्या कभी भी कम नहीं होगी और आपकी नींद भी प्रभावित होगी।

सोते वक्त कोई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट साथ ना रखें:

How to deal with night anxiety
सोते वक्त का मोबाइल का इस्तेमाल ना करें

रात को सोने जानें से पहले आपको अपने सारे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को ऑफ कर देने की जरूरत है ताकि आपकी नींद प्रभावित नहीं हो और आप शांति से सो सकें। इलेक्ट्रॉनिक गैजेट आपके ध्यान को भटकाता है और आपकी नींद को प्रभावित करता है।

एल्कोहल के सेवन को छोड़ दें:
एल्कोहल स्टिमुलेंट और सिडेटिव भी होता है। कई लोग सोने जानें से पहले एल्कोहल का सेवन करते हैं जो जल्दी मेटाबोलाइज होता है और आपकी क्रेविंग को बढ़ावा देता है। तो ऐसे में सोने से पहले एल्कोहल का सेवन करेंगे तो आपकी नींद टूट सकती है।  [ये भी पढ़ें: संकेत जो बताते हैं कि आपको शारीरिक तनाव है]

कई लोगों को रात के समय अधिक चिंता महसूस होती है। ऐसे में उन्हें अपनी रूटीन से कुछ चीजों को छोड़ देनी चाहिए, ताकि वो इस समस्या से निजात पा सकें।

 

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "