इन तरीकों से तनाव को दूर भगायें और अपने मूड को बेहतर बनाएं

how to reduce stress and improve your mood

तनाव या डिप्रेशन जैसी मानसिक स्थिति में व्यक्ति का मूड पूरी तरह से ख़राब हो जाता है, व्यक्ति बहुत ज्यादा चिड़चिड़ा और उदास रहने लगता है। इस दौरान जरूरत होती है कि व्यक्ति अपने मूड को ठीक करें और अपने खुद को तनाव से बाहर निकाले। ऐसा न होने पर तनाव और बढ़ने लगता है और जिसके परिणाम स्वरूप क्रोनिक स्ट्रेस जैसी समस्या देखने को मिल सकती है। जो मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ शारीरिक स्वस्थ पर भी असर करता है। आइए जानते हैं उन आसान से उपायों के बारे में जिनसे जल्दी ही व्यक्ति तनाव से दूर हो सकता है और अपना मूड अच्छा कर सकता है। [ये भी पढ़ें: इन तरीकों को अपनाकर चंद मिनटों में अपने तनाव को दूर करें]

अपनी पुरानी तस्वीरों को देखें: जब भी आप अपने भीतर तनाव को महसूस करें तो इसे दूर करने के लिए अपने जीवन की अच्छी यादों में खो जाने की कोशिश करें। ऐसे में आप अपने फोन, एल्बम या कहीं भी जहां आप अपनी यादगार तस्वीरों को रखते हैं उन्हें निकाल कर देखें और वापस उस पल को महसूस करें। ऐसा करने से आप मौजूदा तनाव से थोड़े समय के लिए दूर हो जाएंगे और आपका मूड भी अच्छा हो जाएगा।

घर में रौशनी करें: तनाव या डिप्रेशन की अवस्था में व्यक्ति एक कमरे में रहना ज्यादा पसंद करता है। अकेले रहने के साथ-साथ व्यक्ति घने अंधेरे में भी रहना पसंद करता है। ऐसा करना ठीक नहीं है ऐसे में व्यक्ति तनाव से बाहर तो नहीं आता बल्कि उस तनाव में और ज्यादा फंसता जाता है। इस परिस्थिति में अपने कमरे में रौशनी करने की कोशिश करें। खिड़कियों के परदे हटा दें और बाहर की रौशनी को घर में आने दे। साथ ही साथ बाहर होने वाले हलचल पर ध्यान दें। इससे आपका मूड अच्छा होगा और आप तनाव मुक्त हो जाएंगे। [ये भी पढ़ें:अगर दिख रहे हैं ये लक्षण तो आपको ले लेना चाहिए सोशल मीडिया से ब्रेक]

अपनी अच्छाई को जाने: कई बार तनाव का कारण अपने भीतर आत्मविश्वास की कमी भी हो सकती है। व्यक्ति को लगता है कि वह कुछ भी करने के लायक नहीं है और तनाव के दलदल में फंसता चला जाता है। ऐसे में जरुरी है कि व्यक्ति इनमे न फंस कर अपने भीतर छिपी अच्छाइयों को पहचानने का प्रयास करें। हो सके तो अपने भीतर छिपी अच्छी आदतों को किसी डायरी में लिख दें। इससे व्यक्ति में भीतर आत्मविश्वास तो बढ़ेगा ही इसके साथ-साथ तनाव भी कम होगा।

अपने साथी के साथ समय बितायें: तनाव में व्यक्ति अपने आपको अकेला समझने लगता है। ऐसे में उसे एक साथी कि जरूरत होती है। जो उसे बूस्ट करें और उसके साथ समय बितायें। अपने साथी के साथ तनाव के समय में वक्त गुजारना काफी अच्छे से व्यक्ति को तनाव मुक्त कर सकता है। [ये भी पढ़ें:बहुत ज्यादा तनाव लेने वाले बॉस के साथ काम कैसे करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "