तनाव से लड़ने के लिए खुद में विकसित करें तकनीक

Read in English
how to develop a technique to cope with stress

तनाव एक गंभीर मानसिक अवस्था है, जो व्यक्ति को मानसिक और शारीरिक दोनों रुप से प्रभावित करता है। आजकल हर व्यक्ति को किसी ना किसी चीज का तनाव रहता है। रोजाना के तनाव से राहत पाने का सिर्फ एक ही तरीका है कि तनाव से डरने की बजाय आप उसका सामना करना सीख लें। जब आप तनाव को कम करने का तरीका जान जाते हैं तो आप इसके नकारात्मक प्रभावों को कम करने में सफल हो जाते हैं। इन तरीकों के बारे में जानकर तनाव को दूर किया जा सकता है। तो आइए आपको बताते हैं कैसे तनाव को दूर करने के लिए  खुद में तकनीक विकसित करें। [ये भी पढ़ें: क्या तनाव से जुड़े इन मिथकों को आप भी सच मानते हैं]

कैसे शुरु करें तनाव का मुकाबला करने की प्रक्रिया: तनाव का मुकाबला करने के लिए यह जानना जरुरी है कि आपको तनाव कब और किन बातों से होता है। इससे तनाव के पीछे का कारण पता चल सकता है। किसी भी परेशानी के पीछे का कारण जानकर उससे निपटना आसान हो जाता है। इसलिए तनाव के पीछे का कारण जान लें और साथ ही अपनी कमजोरी को भी समझें जिससे तनाव का मुकाबला करना आसान हो जाता है।

इन तरीकों से आप अपने तनाव से मुकाबला कर सकते हैं:
How to develop a coping mechanism for stressसमीक्षा करें: इस बात को सबसे पहले समझने की कोशिश करें की आप तनाव में कब होते हैं। सिर दर्द, कमर दर्द आदि परेशानियां आपको तनाव की वजह से भी हो सकते हैं लेकिन कई बार आप इसे किसी बीमारी का लक्षण समझ बैठते हैं। बहुत से लोगों को ये भी पता ही नहीं चल पाता है कि वे तनाव से सामना कर रहे होते हैं इसलिए सबसे पहले इस बात को समझें की आप तनाव में हैं या नहीं ये समझ कर आप आगे की रणनीति का निर्धारण करें।[ये भी पढ़ें: सुबह के समय होने वाले सिरदर्द के पीछे होते हैं कई कारण]

तनाव के कारणों को नोट कर लें: जब भी तनाव में हो तो उन कारणों के बारे में जानना जरुरी होता है।  इसलिए जिस समय आप तनाव में हो उन कारणों को तुरंत नोट कर लें, साथ ही उन परिस्थितियों में तनाव पर काबू पाने के तरीकों को भी नोट कर लें। जिससे आप अगली बार उन परिस्थितियों को पैदा होने से रोक सकें।

तनाव को पैदा होने से रोकें:

How to develop a coping mechanism for stressजब भी आप शांत हो तो गहराई से तनाव पैदा होने के कारणों के बारे में सोचें ताकि आप ये जान सकें कि आपको पिछली बार तनाव क्यों पैदा हुआ था और फिर कोशिश करें कि आप उन चीजों को ना दोहराएं जिससे आप तनावग्रस्त होते हैं। याद रखें की तनाव मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों के लिए ही हानिकारक है इसलिए तनाव को पैदा होने से रोकें।[ये भी पढ़ें: तनाव को दूर करना हो रहा है मुश्किल तो अपनाएं ये तरीकें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "