खुद से सकारात्मक बातें करके कैसे करें तनाव दूर

Read in English
How to control stress with positive self-talk

जीवन में किसी ना किसी समय पर व्यक्ति तनाव से ग्रसित होता है। इस दौरान तनाव को कंट्रोल करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। लेकिन अगर इसे कंट्रोल ना किया जाए तो गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती है। तनाव के समय में सकारात्मक विचार रखना बेहद जरुरी होता है। इससे तनाव से बाहर निकलने में मदद मिलती है। तनाव से बाहर निकलने के लिए खुद से बातें करना एक अच्छा उपाय है। तनाव दूर करने के लिए और अपनी आंतरिक आवाज की मदद से मूड ठीक करने में खुद से बात करना बहुत काम आता है। खुद से सकारात्मक बातें करके तनाव के प्रभाव को कम किया जा सकता है। इससे नकारात्मक विचार कम होते हैं। तो आइए आपको बताते हैं कैसे खुद से बात करके तनाव कम किया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: क्या तनाव से जुड़े इन मिथकों को आप भी सच मानते हैं]

कैसे करें सकारात्मक बातें: खुद से बात करने का सबका अलग-अलग तरीका होता है। यह तरीका उन्हें अच्छा महसूस कराने में मदद करता है और तनाव को दूर करता है।

सकारात्मक विचार लिखें:

How to control stress with positive self-talk
photo credit: aaronkrall.io

कभी-कभी अपनी बातों को पेपर पर लिखने से ही इंसान को अच्छा महसूस होता है। यह अपनी भावनाओं को समझने में मदद करता है। आप इसे सकारात्मक रुप से इस्तेमाल कर सकते हैं। सकारात्मक विचार लिखने से व्यक्ति मोटिवेट होते हैं। [ये भी पढ़ें: ये शारीरिक समस्याएं करती हैं तनाव की और इशारा]

शीशे का इस्तेमाल करें:
How to control stress with positive self-talk जब तनाव ज्यादा बढ़ने लगे तो खुद की बातों और शरीर पर ध्यान रखना चाहिए। इसके लिए शीशे में देखकर खुद से बात करें। खुद को देखकर मोटिवेट होना आसान हो जाता है। खुद को देखते हुए बात करने से तनाव कम होता है और खुद को अच्छा महसूस होता है।

सोचना बंद कर दें: तनाव के दौरान अगर आपको महसूस होने लगे की आप नकारात्मक विचारों से घिर रहे हैं तो उस समय सोचना बंद कर देना चाहिए। उसके बाद कुछ एक्टिविटी करें जो आपके दिमाग को विचलित कर सके। इसके लिए आप वॉक करने जा सकते हैं, अच्छे गाने सुन सकते हैं। जब एक बार आप शांत हो जाएं तो सकारात्मक चीजों के बारे में सोचें। सकारात्मक चीजों के बारे में सोचकर अच्छा महसूस किया जा सकता है। वॉक करते समय आप खुद से बात कर सकते हैं जिससे आपको अपनी चीजें समझने में मदद मिलती है। [ये भी पढ़ें: सुबह के समय होने वाले सिरदर्द के पीछे होते हैं कई कारण]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "