इन आसान तरीकों से खुद को करें रिलैक्स

easy ways to relax yourself

Picture Credit: paraft.jp

अपने शरीर को मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने के लिए खुद को रिलैक्स रहना बहुत आवश्यक होता है। लंबे समय से होने वाला स्ट्रेस आपको नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। नकारात्मक सोच आपके जीवन के लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए खुद को किस प्रकार रिलैक्स रखें ये जानना आवश्यक है, ताकि आप एक स्वस्थ और सुखद जीवन व्यतीत कर सकें। [ये भी पढ़ें: सुबह होने वाले सिरदर्द के पीछे हो सकते हैं ये कारण]

ब्रीदिंग एक्सरसाइज: ब्रीदिंग एक्सरसाइज खुद को रिलैक्स करने सबसे बढ़िया तरीका होता है। इसे कहीं भी और किसी भी समय किया जा सकता है। ब्रीदिंग एक्सरसाइज करते वक्त दिमाग और शरीर को रिलैक्स करने के लिए सबसे पहले अपनी सांस को धीमा करना होता है और डायाफ्राम से सांस को धीरे-धीरे अंदर की ओर खींचना होता है। यह आपके शरीर और मन को आराम पहुंचाता है।

मेडिटेशन: मेडिटेशन खद को रिलैक्स करने का सबसे आसान और सरल उपाय होता है। इससे आपको मानसिक और शारीरिक दोनों तरह की शांति मिलती है। मेडिटेशन के लिए अभ्यास करने की जरूरत होती है। नियमित रूप से अभ्यास आपको प्रत्येक सत्र के दौरान और बाद में आराम महसूस करने में मदद कर सकता है और आपको तनाव मुक्त कर सकता है। [ये भी पढ़ें: क्रोनिक फटीग सिंड्रोम के बारे में जानें कुछ जरुरी बातें]

प्रोग्रेसिव मसल्स रिलैक्सेशन: प्रोग्रेसिव मसल्स रिलैक्सेशन(पीएमआर) खुद को जल्दी रिलैक्स करने के तरीकों में से एक है। इस तकनीक को करने से सिर से पैर तक की मांसपेशियों को आराम मिलता है, जिससे शरीर तनाव मुक्त होता है। अगर आप नियमित रूप से इसका अभ्यास करते हैं तो कुछ ही सेकेंड में आपका शरीर रिलैक्स हो जाएगा।

खुलकर हंसें: खुलकर हंसना मानसिक और शारीरिक रूप से तनाव मुक्त कर देता है। अगर आपके पास पर्याप्त समय है तो आपको कोई हंसने वाली फिल्म या कोई किताब पढ़नी चाहिए, ताकि आप थोड़ा हंस सकें। अगर आपके पास इन चीजों को करने का समय नहीं है, तो अपने दिनचर्या में केवल हास्य की भावना को बनाए रखने की कोशिश करें। ऐसा करने से आप खुद को रिलैक्स महसूस करेंगे।

अपनी सोच को बदलने की कोशिश करें: अगर आप अपनी सोच में सकारात्मक भावनाएं लाएंगें तो आप खुद को तनाव मुक्त पाएंगें और रिलैक्स महसूस करेंगे। नकारात्मक सोच आपको शारीरिक और मानसिक रूप से प्रभावित करती है। इसलिए जितना हो सके अपने अंदर की नकारात्मक सोच को दूर करने की कोशिश करें। [ये भी पढ़ें: कहीं आप खुद ही अपने मानसिक और भावनात्मक तनाव के कारण तो नहीं हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "