रोजमर्रा की जिंदगी में इन उपायों से लाएं अध्यात्मिकता

How to be spiritual in daily life

अध्यात्मिकता आपको खुद से जोड़ने का मौका देती है। साथ ही ये आपको उस शक्ति से भी जोड़ती है जिसे आप प्रकृति कहते हैं। अगर आप इससे जुड़ना चाहते हैं तो आपको पहले ये समझना होगा कि अध्यात्मिकता क्या है। कुछ लोग अध्यात्मिकता से जुड़े तो होते है लेकिन उन्हें पता ही नहीं होता कि वो क्या कर रहे हैं और किस वजह से कर रहे हैं, जबकि कुछ लोग इस अभ्यास को कर रहे होते हैं और वो भी एक अच्छे कारण और उद्देश्य से। ऐसे लोग बहुत सपोर्टिव और जमीन से जुड़े होते हैं। ये लोग हर रोज अध्यात्म को अपने जीवन में जगह देते हैं जिससे उनकी जिंदगी भी काफी स्वस्थ और जागृत होती है।

अध्यात्मिक अभ्यास में अत्यधिक सुंदरता होती है। अध्यात्मिकता आपको मन और तन दोनों की शांति देती है। अध्यात्मिकता आपको खुद की पहचान कराती है। इसकी कोई एक परिभाषा नहीं है, पर सीधे शब्दों में आत्मज्ञान ही अध्यात्म है। रोजाना अध्यात्मिक रूप से जीना थोड़ा मुश्किल हो सकता है लेकिन ये नामुमकिन नहीं है। आप अपने रोजमर्रा के जीवन में भी अध्यात्म के करीब जा सकते हैं। रोज के जीवन में अध्यात्म के करीब आने के लिए इन बातों का पालन करें। [ये भी पढ़ें : इन बातों का पालन करने से घटेगी अध्यात्म और आपके बीच की दूरी]
अपने भीतर धीरे-धीरे बदलाव लायें:
कई बार ऐसा देखा गया है कि लोग अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए प्रयास करते हैं पर परिणाम की प्रतीक्षा बहुत जल्दी करने लगते हैं। ऐसे लोग सोचते हैं कि जीवन में बहुत जल्द बदलाव आये। वो अध्यात्मिक होने की कोशिश तो करते हैं पर बहुत जल्द कोई बदलाव न आने पर निराश हो जाते हैं। ऐसे लोग फिर से पहले की तरह जीवन यापन करने लगते हैं। अध्यात्म कोई जादू नहीं है जो पल भर में आपके जीवन में कोई चमत्कार ला दे। अध्यात्म का असर जीवन में धीरे-धीरे आता है। आप जिस भी तरीके से अपने आपको अध्यात्म के करीब पाते हैं उस तरीके को अपनाएं और परिणाम की चिंता न करें। आपको धीरे-धीरे ही सही पर अध्यात्म का असर जरूर दिखना शुरू हो जाएगा।
मेडिटेशन करें:
How to be spiritual in daily lifeअध्यात्मिकता के और करीब जाने के लिए आपको मेडिटेशन करना बहुत जरुरी होता है। मेडिटेशन आपको तन और मन दोनों की शांति तो देता ही है, साथ ही यह आपको मानसिक रूप से भी स्वस्थ रखता है। मेडिटेशन आपको सभी प्रकार की चिंताओं और तनाव से दूर रखता है। मेडिटेशन करना भी कठिन नहीं है। किसी शांत जगह पर बैठकर ध्यान लगायें। मेडिटेशन करने से आत्म शांति तो मिलती ही है शारीरिक शान्ति भी मिलती है। मेडिटेशन से तनाव दूर होता है और आप अपने आप को अध्यात्म के करीब पाते हैं।
अध्यात्मिक लोगों के साथ समय बिताएं:
अध्यात्मिक होने के लिए आपको ऐसे माहौल की जरुरत हैं जहां अध्यात्मिकता को समझा जा सकें और ऐसे माहौल के लिये आप अध्यात्मिक लोगो के साथ समय बिता सकते हैं। वैसे समूह का हिस्सा बनें जो आपको अध्यात्म के करीब लायें । यह करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है इसलिए ध्यान से उन लोगों का चुनाव करें जो आपकी ही तरह अध्यात्म से जुड़ना चाहते हैं और जुड़े हुए हैं। इसके साथ ही आप अपने ग्रुप के साथ समय बिताएं और अध्यात्म की बाते करें। साथ में अध्यात्मिक पुस्तकें पढ़े जिससे आपको अध्यात्मिकता के बारे में ज्ञान मिलेगा। [ये भी पढ़ें : ताई ची के अभ्यास से हो सकते हैं ये चमत्कारी फायदे]
संभव हो तो अध्यात्मिक शिक्षक के पास जाएं:
हम कई बार अध्यात्म को लेकर अपने भीतर बहुत सी गलत भावनाएं और धारणाएं बना लेते हैं। उसकी पहचान के लिए जरुरी है कि आप किसी अध्यात्मिक शिक्षक से बात करें। वह आपको अध्यात्म के बारे में बहुत ही स्पष्ट और सही तरीके से जानकारी दे सकता है। अध्यात्मिक होने से पहले ये जरुरी है कि आप अध्यात्म को समझें और एक अध्यात्मिक शिक्षक आपको बेहतर तरीके से अध्यात्म के बारे में ज्ञान दे सकता है।
प्रकृति के करीब जायें:
How to be spiritual in daily lifeप्रकृति आपको वो शांति प्रदान करती है जो शांति आपको अध्यात्मिक होने से मिलती है। अध्यात्मिकता और प्रकृति के बीच बहुत ही गहरा रिश्ता है। कोशिश करें कि कुछ समय प्रकृति के करीब गुजारें। अपने घर के बगीचे में ही फूल पौधों को पानी दें। चिड़ियों की आवाजें सुनें। गहरी सांस लेकर हवा को अपने भीतर महसूस करें। ओंस भरी घास पर पैदल चलें। मुमकिन हो तो आप किसी प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण पर्यटक स्थल की यात्रा भी करें। रोजमर्रा की जिंदगी से दूर कुछ पल प्रकृति के साथ बिताना आपके अन्दर ऊर्जा का नया संचार ला सकता है और आपको अध्यात्मिकता के करीब ला सकता है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "