Mental Health: शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य भी है जरुरी

Read in English
Your Mental Health is Equally As Important as Your Physical Health

स्वास्थ्य होने का मतलब है शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से स्वस्थ होना।

Mental Health: मानसिक स्वास्थ्य शारीरिक स्वास्थ्य के समान ही महत्वपूर्ण है। यह किसी व्यक्ति को तनाव, डर, थकावट, दुख आदि कठिन परिस्थितियों में सही तरीके से कार्य करने में मदद करता है। हर व्यक्ति का कठिन परिस्थितियों से निपटने का तरीका अलग-अलग हो सकता है। अगर आप अपने जीवन में कठिन परिस्थितियों को मैनेज नहीं कर पा रहे हैं, तो इसका मतलब ये नहीं है कि आप मानसिक रुप से स्वस्थ नहीं है। हालांकि कभी कभी हम अपने मानसिक स्वस्थ्य को अनदेखा कर देते हैं। खुद को शारीरिक रुप से स्वास्थ्य रखने के लिए हम जिम जाते हैं, स्वस्थ आहार लेते हैं, डॉक्टर से मिलते हैं लेकिन क्या आप अपने मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी उतने जागरुक रहते हैं? आइए जानते हैं शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य भी क्यों है जरुरी। [ये भी पढ़ें: किताबें पढ़ना मानसिक स्वास्थ्य को कैसे बेहतर बनाता है]

Mental Health: आपके लिए मानसिक स्वास्थ्य क्यों महत्वपूर्ण है

  • मानसिक स्वास्थ्य क्यों है जरुरी
  • कैसे मानसिक रुप से स्वस्थ रहें

मानसिक स्वास्थ्य क्यों है जरुरी

Your Mental Health is Just as Vital as Your Physical Health
मानसिक बीमारियां डिसऑर्डर का कारण बनती हैं और स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा करती हैं।

मानसिक स्वास्थ्य एक सही मनोवैज्ञानिक स्थिति को दर्शाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने स्वास्थ्य को इस तरह परिभाषित किया है- “स्वास्थ्य होने का मतलब है शारीरिक, मानसिक और सामाजिक रुप से बेहतर स्थिति में होना ना कि केवल बीमारियों से दूर होना।” इसलिए, इस परिभाषा के अनुसार, शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य भी महत्वपूर्ण है।

अगर आप अपने मानसिक स्वास्थ्य को अनदेखा करते हैं तो आपको कई मानसिक समस्याएं जैसे अवसाद, चिंता, पैनिक डिसऑर्डर, तनाव, एंग्जायटी आदि का सामना करना पड़ सकता है। ये सभी समस्याएं आपके दिमाग में चल रहे विचारों पर निर्भर करती हैं।

हमें अपने मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रखना चाहिए, उसी तरह जैसे हम अपने शारीरिक स्वास्थ्य का रखते हैं। मानसिक रूप से स्वस्थ व्यक्ति का दिमाग सफल और कामकाजी होता है जो दूसरों के साथ अच्छे संबंध बनाने में मदद करता है और सामान्य परिस्थितियों में सामान्य रूप से व्यवहार करने में मदद करता है। वहीं दूसरी ओर, मानसिक बीमारियां डिसऑर्डर का कारण बनती हैं और स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा करती हैं। ये आपकी सोच, मूड, व्यवहार और आजीविका को बदलती हैं।

कैसे मानसिक रुप से स्वस्थ रहें

  • पर्याप्त नींद लें
  • गहरी सांस या ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें।
  • अपनी रुचियों के लिए समय निकालें।
  • पोषक तत्व युक्त आहार लें।
  • हंसने की आदत डालें।
  • शारीरिक गतिविधि करें और तनाव से दूर रहें।

[जरुर पढ़ें: मानसिक स्वास्थ्य के लिए नींद कैसे जरूरी है]

आपका स्वास्थ्य आपके लिए सभी चीजों से पहले और आपकी प्राथमिकता होना चाहिए चाहे फिर कुछ भी हो। इसलिए इस पर ध्यान दें। आप इस आर्टिकल को इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "