खुद से प्यार करने और सेल्फिश होने में क्या फर्क होता है

difference between self love and being selfish

self-love: सेल्फ लव और सेल्फिश होने में भी काफी फर्क होता है। pc: nacre.com.au

self love: खुद से प्यार करना सही होता है और हर व्यक्ति को खुद से प्यार करना चाहिए। जब व्यक्ति खुद से प्यार नहीं करता तो वह किसी और से भी प्यार नहीं कर पाता है। खुद से प्यार करने वाले लोगों को अक्सर सेल्फिश समझ लिया जाता है। लेकिन ये दोनों चीजें बेहद अलग-अलग होती है। खुद से प्यार करना आपको शक्ति और प्रेरणा देता है इसलिए आपको खुद से प्यार करना चाहिए। सेल्फ लव और सेल्फिश में एक अंतर होता है जिसे समझना आपके लिए जरुरी होता है। आइए जानते हैं कि खुद से प्यार करना और सेल्फिश होना कैसे दो अलग-अलग चीजें हैं।[ये भी पढ़ें:  Self-Acceptance: मेडिटेशन आपको खुद से प्यार करना कैसे सिखाता है ]

self love: सेल्फ लव कैसे सेल्फिश होने से अलग है

  • खुद का सम्मान करने से आप दूसरों का सम्मान करना सीखते हैं
  • खुद पर भरोसा करना सीखते हैं
  • दूसरों की परवाह करते हैं
  • लोगों को खुश रखते हैं
  •  दूसरों को प्रोत्साहित करते हैं

1.खुद का सम्मान करने से आप दूसरों का सम्मान करना सीखते हैं-
जो लोग खुद से प्यार करते हैं वें अपना खुद का सम्मान भी करते हैं । जब व्यक्ति खुद का सम्मान करता है तो वह दूसरों का सम्मान भी करता है। खुद से प्यार करने से आत्म सम्मान की भावना आती है और ऐसे लोग किसी अन्य व्यक्ति का अनादर नहीं करते हैं। वहीं सेल्फिश लोग सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं वह दूसरों का सम्मान भी नहीं करते हैं।[ये भी पढ़ें:  Self hate: खुद से प्यार ना करने के नुकसान ]

2. खुद पर भरोसा करना सीखते हैं-
खुद से प्यार करने वाले लोग अपने आप पर भरोसा करते हैं। ऐसे में उनका नजरिया हर काम को लेकर बेहद सकारात्मक होता है। हर काम को लेकर सकारात्मक होना और खुद पर भरोसा करना सेल्फिशनेस नहीं होती है। लेकिन सेल्फिश लोग खुद पर भरोसा करते हैं और बाकि दूसरे लोगों का आत्मविश्वास कम करते हैं। सेल्फ लव खुद पर भरोसा करना सीखाता है।

3.दूसरों की परवाह करते हैं-

what-is-the-difference-between-loving-yourself-and-being-selfish
self love: जो लोग खुद से प्यार करते हैं वे दूसरों की परवाही भी करते हैं।

सेल्फिश लोग दूसरों की परवाह नहीं करते हैं। लेकिन सेल्फ लव करने वाले लोग अच्छे से जानते हैं कि दूसरों का प्यार पाने के लिए उनकी परवाह करना जरुरी है। खुद से प्यार करने वाले लोग अपनों से भी उतना ही प्यार करते हैं और उनकी परवाह भी करते हैं।

4.लोगों को खुश रखते हैं-
सेल्फिश लोग अपने फायदे के लिए दूसरों को दुखी कर सकते हैं लेकिन खुद से प्यार करने वाले लोग अच्छे से जानते हैं कि खुश रहने के लिए अपनों को खुश रखना भी बहुत जरुरी होता है। सेल्फ लव करने वाले लोग दूसरे लोगों को भी खुश रखते हैं।

5. दूसरों को प्रोत्साहित करते हैं-
सेल्फ लव प्रोत्साहन देता है और ऐसे लोग दूसरों को आगे बढ़ने के लिए हमेशा प्रोत्साहित करते हैं जबकि सेल्फिश लोग हमेशा हौसला कम करने की कोशिश करते हैं। इसलिए सेल्फ लव करने वाला बनें ना कि सेल्फिश।

[जरुर पढ़ें:   हर परिस्थिति में खुश रहने के लिए खुद से प्यार करना कैसे सीखें ]

सेल्फ लव और सेल्फिश होने में फर्क होता है इसलिए दोनों को एक ना समझें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "