नींद में खुद को ऊंचाई से गिरता हुआ महसूस होना है हिप्निक जर्क

Read in English
What is Hypnic Jerks and how to avoid it

सोते हुए अचानक से उठ जाने के कई कारण होते हैं। कभी व्यक्ति बुरा सपना देखने की वजह से उठ जाता है तो कभी कुछ और कारण होता है। लेकिन क्या आपको सोते हुए ऐसा महसूस हुआ है कि आप किसी ऊंची जगह से गिर रहे हैं और आपकी नींद टूट गई हो। इस स्थिति के बाद जब व्यक्ति उठता है तो उसकी धड़कने तेज हो जाती हैं और काफी पसीना आता है। अगर आपके साथ ऐसा होता है तो यह एक समस्या है जिसे हिप्निक जर्क या हिप्नोगोजिक जर्क के नाम से जाना जाता है। आइए हिप्निक जर्क के बारे में जानते हैं। [ये भी पढ़ें-जानें हाइपोमेनिया के बारे में जिसमें व्यक्ति बहुत ज्यादा एक्टिव हो जाता है]

Pic Credit: nosleeplessnights.com

हिप्निक जर्क मांसपेशियों में ऐंठन की वजह से होता है। यह किसी एक मांसपेशी या कई मांसपेशियों में एक साथ भी होने की वजह से भी हो सकता है। साधारणतः यह तब होता है जब आप नींद के पहले हिस्से में होते हैं यानी आपने थोड़ी देर पहले ही सोए हों। विज्ञान नींद की इस अवस्था को हिप्नोगोजिक स्टेट ऑफ कांसियसनेस कहते हैं। इसी वजह से इसे हिप्नोगोजिक जर्क के नाम से भी जाना जाता है।

हिप्निक जर्क का कारण:
जैसा कि आप जानते हैं कि हिप्निक जर्क मांसपेशियों मे होने वाली ऐंठन की वजह से होता है लेकिन इसके पीछे का कारण क्या है। बिल्कुल सही तरीके से हिप्निक जर्क के कारण को नहीं बताया जा सकता है लेकिन इसके पीछे निम्नलिखित कारण हो सकते हैं।

हिप्निक जर्क से कैसे बचें:
हालांकि ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे हिप्निक जर्क की समस्या खत्म हो जाए। फिर भी इससे बचने के लिए निम्निलिखित तरीके अपनाएं जा सकते हैं।

  • शराब और कैफीन का सेवन कम कर दें, खासकर रात को सोने से 3-4 घंटे पहले इनका सेवन ना करें।
  • देर शाम को या रात को बहुत अधिक हैवी एक्सरसाइज करने से बचें।
  • अपनी डायट में कैल्शियम और मैन्निशियम की मात्रा बढ़ाएं। ऐसा करने से आपकी मांसपेशियों में खिंचाव या ऐंठन की समस्या कम होगी।
  • अच्छी तरह के गद्दे का इस्तेमाल करें और आरामदायक मुद्रा में सोएं।
  • तनाव और चिंता जैसे मानसिक विकारों को खुद पर हावी ना होने दें।
  • बहुत अधिक थकान देने वाले काम ना करें। [ये भी पढ़ें- //thesleephub.comज्यादा शक करते है तो हो सकते हैं पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर के शिकार]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "