ईटिंग डिसऑर्डर के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव

Read in English
What are the long term effects of eating disorders

ईटिंग डिसऑर्डर एक साइकोलॉजिकल डिसऑर्डर है। अनहेल्दी खाना खाना और खाना खाने संबंधी खराब आदतों के कारण होने वाली ये बीमारी हमारे स्वास्थ्य के लिए एक बेहद हानिकारक हो सकती है। ईटिंग डिसऑर्डर किसी भी व्यक्ति के लिए ना सिर्फ मानसिक बल्कि शारीरिक परेशानी का सबब हो सकता है। आइए जानते हैं कि ये हमारे शरीर के लिए कैसे हानिकारक है।[ये भी पढे़ं; शराब के सेवन से आपके व्यवहार में होने वाले बदलाव]

1. दिल की मसल्स को कमजोर कर देता है: ईटिंग डिसऑर्डर के कारण आप अनहेल्दी खाना कब और कितनी मात्रा में खा लेते हैं इस चीज का आपको पता नहीं चल पाता। इस दौरान बहुत अधिक वसा के सेवन से दिल की मसल्स कमजोर पड़ जाती है। खासकर बुलीमिया नर्वोसा में व्यक्ति हद से ज्यादा खा लेता है, जिससे उसके बार- बार उल्टी होनी है और दिल की धड़कनें भी असामान्य हो जाती है।

2. आत्म-विश्वास की कमी: हर व्यक्ति खूबसूरत दिखना चाहता है, लेकिन अनहेल्दी खाने की आदतों के कारण ईटिंग डिसऑर्डर से पीड़ित व्यक्ति जल्द ही मोटा हो जाता है। खाने की आदतों को चाह कर भी नियंत्रित ना कर पाने के कारण उनका आत्म-विश्वास कम हो जाता है, ऐसे में वे जल्द ही तनाव का शिकार हो जाते हैं।[ये भी पढे़ं;पॉजिटिव एटीट्यूड(सकारात्मक दृष्टिकोण) बदल देता है आपका पूरा जीवन]

3. पीरियड्स संबंधि परेशानी होना: ईटिंग डिसऑर्डर महिलाओं के लिए और भी हानिकारक होता है। महिलाओं के लिए ये समस्या उनके पीरियड्स को भी अनियमित बना देती है। इससे पीरियड्स के समय दर्द भी काफी ज्यादा होता है।

4. दिमाग पर नकारात्मक प्रभाव डालता है: एनोरेक्सिया की बीमारी से परेशान व्यक्ति के दिमाग की ग्रे सेल्स पर ईटिंग डिसऑर्डर के कारण नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसमें लंबे समय तक खाने के बाद मरीज को भूख का अहसास होता रहता है क्योंकि ग्रे सेल्स सही से काम नहीं कर पाती। [ये भी पढे़ं;भावनात्मक हिंसा से पीड़ित व्यक्ति में दिखने वाले लक्षण]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "