विचार जो आपकी आत्मा को नुकसान पहुंचाते हैं

Read in English
toxic thoughts that can damage your soul

photo credit: shutterstock.com

व्यक्ति के दिमाग में पूरे दिन ना जाने कितने विचार घुमते रहते हैं। जिनमें से कुछ अच्छे तो कुछ बुरे होते हैं। अच्छे विचार आपकी खुशी को बढ़ा देते हैं तो वहीं बुरे विचार खुशी को नष्ट कर देते हैं जिसकी वजह से पूरा दिन खराब हो जाता है। सकारात्मक विचारों पर फोकस करना जरुरी होता है और अनचाहे विचारों और परिस्थितियों से दूर रहना चाहिए। ऐसा करने से आपको जीवन में सकारात्मक चीजें महसूस होती हैं क्योंकि यह अनचाहे विचार आपकी आत्मा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। तो आइए आपको कुछ विचारों की बारे में बताते हैं जो आपकी आत्मा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए इनसे दूर रहना बेहतर होता है। [ये भी पढ़ें: शराब के सेवन से आपके व्यवहार में होने वाले बदलाव]

आप कुछ नहीं कर सकते हैं: किसी भी समस्या का समाधान करते समय ऐसा सोचना की आप किसी भी परेशानी को दूर नहीं कर सकते हैं यह गलत है। यह बुरे विचार आपके दिमाग में घूमते रहते हैं जिसकी वजह से आप किसी भी तरह के काम को सही से नहीं कर पाते हैं। इस तरह के विचारों से दूर रहना चाहिए। ऐसा करना थोड़ा मुश्किल होता है लेकिन एक बार आप ऐसा करना सीख जाते हैं तो आपको किसी भी समस्या का सामना करने में दिक्कत नहीं होती है।

आपको लगता है कि आप अच्छे नहीं हो: बाकि लोगों के आपको जज करने से पहले ही आप खुद को जज करने लगते हैं और सोचने लगते हैं कि आप अच्छे नहीं हैं। इस तरह के नकारात्मक विचार आपके दिमाग के लिए हानिकारक हो सकते हैं। आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि इस दुनिया में आपसे अच्छा कोई भी नहीं है। सभी में कोई ना कमी होती है आप भी उन्हीं लोगों में से एक हैं इसलिए खुद को जैसा हैं वैसे स्वीकारें। [ये भी पढ़ें: पॉजिटिव एटीट्यूड(सकारात्मक दृष्टिकोण) बदल देता है आपका पूरा जीवन]

सारी दुनिया आपके खिलाफ है: जिन लोगों को लगता है कि सारी दुनिया उनके खिलाफ हैं उन्हें इस बात के बारे में भी सोचना चाहिए कि दुनिया में और भी कई चीजें हैं करने के लिए। एक व्यक्ति तब तक कुछ नहीं कर सकता है जब तक कोई दूसरा इंसान उनके लिए परेशानी खड़ा करें। आपको सोचना चाहिए कि व्यक्ति के पास अपने काम भी होते हैं करने को। इसलिए इस तरह के विचार दिमाग से निकाल देने चाहिए कि सभी लोग आपके खिलाफ हैं।

हर चीज के पर काश सोचना: अगर आप सोचते हैं कि काश ये हो जाता, काश मैं ये कर पाता,काश मैं ये जीत जाता इस तरह के विचारों को दिमाग से बाहर निकाल दें। इन सारी भावनाओं से आपके दिमाग में अंशांति की भावना एकत्रित होने लगती है। नकारात्मक विचारों के बारे में सोचने से सिर्फ आपके दिमाग की शांति भंग होती है। इससे आपको डिप्रेशन में भी जा सकते है। [ये भी पढ़ें: भावनात्मक हिंसा से पीड़ित व्यक्ति में दिखने वाले लक्षण]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "