नाइट टेरर की समस्या क्यों और कैसे होती है

things-know-about-night-terror-

नाइट टेरर आमतौर पर बच्चों को परेशान करने वाला एक स्लीप डिसऑर्डर होता है। ये नाइट मेयर(बुरे सपनों) से कुछ अलग होते हैं क्योंकि नाइट टेरर से पीड़ित व्यक्ति को कई गुना ज्यादा डर लगता है। इसके लक्षण पीड़ित में आमतौर पर लगातार देखे जा सकते हैं और वे डर के कारण चिखने-चिल्लाने लगाते हैं। यह परेशानी आमतौर पर 3 से 12 साल के बच्चों को होती है। कई बार वयस्क भी इस स्लीप डिसऑर्डर से पीड़ित हो जाते हैं। नाइट टेरर का अनुभव डरावना होता है और इससे व्यक्ति को सोने से डर लगने लगता है। इस प्रकार अच्छी तरह से ना सोने की वजह से कई लोग तनाव, डिप्रेशन और इंसोम्निया का शिकार हो जाते हैं। आइए जानते हैं नाइट टेरर से जुड़ी अन्य कई जरुरी चीजों के बारे में। [ये भी पढ़ें: सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर को दूर करने के प्राकृतिक उपाय]

1.कौन होता है नाइट टेरर का शिकार:

things-know-about-night-terror-लगभग 6 प्रतिशत बच्चे नाइट टेरर के शिकार होते हैं। यह स्लीप डिसऑर्डर आमतौर पर बच्चों के वयस्क होने पर खत्म हो जाता है।

2. क्या होते हैं नाइट टेरर के कारण: निम्न नाइट टेरर के संभावित कारण हो सकते हैं

3. नाइट टेरर के संभावित लक्षण:

  • रात को सोने से डरना
  • सोते हुए अचनाक डर कर उठ जाना
  • दिल की धड़कनों का बढ़ जाना
  • सांसों की गति तेज होना
  • पसीना आना
  • बुरे सपने की तरह बहुत से लोगों को नाइट टेरर के बारे में बच्चों को अगले दिन याद नहीं रहता। बच्चे अगले दिन अक्सर इस अनुभव के बारे में भूल जाते हैं।

4.नाइट टेरर में क्या होता है: नाइट टेरर की परेशानी अक्सर सोने के 90 मिनट बाद शुरु होती है। इसमें बच्चा डर के मारे चिल्लाने लगता है। माता-पिता के पास होने के बावजूद भी बच्चे को लगता है कि वह अकेला है। बच्चा इस परेशानी में असमंजस की स्थिति में होता है और उसे समझ नहीं आता की वह अपनी बात को कैसे बयां करे। हालांकि कुछ समय बाद सब कुछ सही हो जाता है लेकिन बच्चों की नींद इससे अक्सर खराब हो जाती है।

5.समाधान: बच्चों के कमरे को सुरक्षित रखें। उनके कमरे में ऐसी कोई चीज ना रखें जिससे उनकी नींद बाधित होती है। बच्चों को कैफीन से दूर रखें और सोते समय फोन, वीडियो गेम आदि का इस्तेमाल ना करने दें। साथ ही बच्चों के डॉक्टर्स से परामर्श लें। [ये भी पढ़ें: हर परिस्थिति में खुश रहने के लिए खुद से प्यार करना कैसे सीखें]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "