जानें दिन के समय सोना गलत या सही

Read in English
Sleeping During The Day Good Or Bad

Pic Credit: afktravel.com

दिन के समय सोने को लेकर अलग-अलग लोगों का राय अलग है। कुछ लोग दिन के समय सोने को सही मानते हैं तो कुछ इसे गलत करार देते हैं। लेकिन वास्तविकता क्या है? क्या वास्तव में दिन में सोना बुरा है? या दिन में सोना आपकी सेहत के लिए अच्छा है? आयुर्वेद में दिन में सोने को लेकर विस्तार से बताया गया है। तो आइए जानते हैं दिन में सोने को लेकर आयुर्वेद में क्या लिखा गया है। [ये भी पढ़ें-जानें हाइपोमेनिया के बारे में जिसमें व्यक्ति बहुत ज्यादा एक्टिव हो जाता है]

आयुर्वेद के अनुसार शरीर में तीन तरह के दोष होते हैं- कफ, वात और पित्त दोष होते हैं। कफ सुबह 6-10 बजे के बीच हावी होता हैं। इस समय में आपको सक्रिय रहना चाहिए। इस समय में एक्सरसाइज करना ज्यादा फायदेमंद होता है। अगर आप दिन के इस समय में सोते हैं तो आप पूरे दिन आलस महसूस करेंगे और आपके आंतरिक अंग बहुत धीमे काम करेंगे।

Sleeping During The Day Good Or Badपित्त के हावी होने का समय सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक है। पित्त आपके पाचन से जुड़ा होता है। यही कारण है कि दोपहर का भोजन सबसे हैवी लेने की सलाह दी जाती है। इस समय शरीर भोजन को उर्जा में तेजी से बदलता है जिससे शरीर को पूरे समय के लिए उर्जा मिलती है। चूंकि इस समय शरीर भोजन को पचाने में व्यस्त रहता है इसलिए इस दौरान शारीरिक गतिविधि कम होती है। यही कारण है कि इस वक्त ज्यादातर लोगों को नींद आती है। [ये भी पढ़ें- नींद में खुद को ऊंचाई से गिरता हुआ महसूस होना है हिप्निक जर्क]

वात के हावी होने का समय शाम दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे तक होता है। यह क्रिएटिविटी के लिए सबसे सही समय होता है क्योंकि इस दौरान आपका दिमाग सबसे सही तरीके से काम करता है। इस दौरान भी आपको हल्की नींद आती है।

आयुर्वेद के अनुसार दिन के समय सोने को सही नहीं माना गया है क्योंकि इसकी वजह से आपके कफ और पित्त दोष में संतुलन बिगड़ सकता है। जिससे आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। हालांकि आयुर्वेद यह भी कहता है कि जो लोग मजबूत और स्वस्थ्य हो वह दिन में कुछ देर के लिए सो सकते हैं लेकिन सिर्फ गर्मी के दिनों में। इसके पीछे कारण ये है कि गर्मी के दिनों में रात छोटी होती है। गर्मी के दिनों में सोना इसलिए भी फायदेमंद माना जाता है क्योंकि गर्म वातावरण की वजह से आपके शरीर में पानी की कमी हो सकती है। आयुर्वेद में दिन में किन लोगों को सोना चाहिए इस बात का भी जिक्र किया गया है।

  • स्टूडेंट- आयुर्वेद में स्टूडेंट्स को दिन में सोने की सलाह दी गई है। लगातार पढ़ने की वजह से उनको थकान हो सकती है इसलिए दिन में थोड़ी देर सोने से उनके दिमाग को तरोताजा बना देता है।
  • वृद्ध- वृद्ध लोगों में सक्रियता की कमी होती है इस वजह से वो जल्दी थक जाते हैं इसलिए उनको भी दिन में थोड़ी देर सोना चाहिए।
  • गायक- दिन में थोड़ी देर के लिए सोने से उनका वात दोष संतुलित होता है। [ये भी पढ़ें-संकेत जो बताते हैं कि आप बिना जाने अपने जीवन को बर्बाद कर रहे हैं]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "