संकेत जो बताते हैं आप खुद को सबसे बेहतर समझते हैं

Read in English
Signs You Are Obsessed With Yourself

अपने आप को बेहतर समझना अच्छा होता है क्योंकि इससे आपके अंदर आत्म-विश्वास आता है। जब आत्म-विश्वास बढ़ेगा तो आप जिंदगी को बेहतर तरीके जीने की कोशिश करेंगे और अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए हर मुमकिन कोशिश करेंगे। लेकिन यदि आप अपने आप को सबसे ज्यादा बेहतर समझने लगते हैं तो कई बार इसके कारण आप दूसरों को नीचा दिखाने लगते हैं और हर वक्त दूसरों के सामने सिर्फ अपने बारे में तारीफ करते हैं। इस वजह से आप अपनों से भी दूर होने लगते हैं। खुद को जरूरत से ज्यादा बेहतर समझने की वजह से आप हमेशा दूसरों का अटेंशन अपनी तरफ करने के लिए परेशान रहते हैं ताकि वो भी आपकी तारीफ करें। लेकिन बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें इस बात का आभास भी नहीं होता है कि वो खुद को सबसे बेहतर समझते हैं। आइए जानते हैं वो कौन से संकेत होते हैं जो बताते हैं कि आप खुद को सबसे बेहतर समझते हैं। [ये भी पढ़ें: गुण जो लीडर बनने वाले व्यक्ति में होने चाहिए]

हमेशा खुद को शीशे में देखना:
जो लोग खुद को सबसे बेहतर समझते हैं वो हमेशा खुद को शीशे में देखते हैं और ये महसूस भी करते हैं कि उनसे खूबसूरत और कोई भी नहीं है। इस बात को कई बार वो दूसरों के सामने भी बोलते रहते हैं कि वो बहुत खूबसूरत हैं और वो बहुत आकर्षित हैं जिसकी वजह से सब उन्हें ही देखते रहते हैं।

सिर्फ खुद के बारे में सोचना:
सेल्फ-ऑब्सेस्ड लोगों को सिर्फ खुद की खुशी से मतलब होता है। उन्हें बस इस बात की फिक्र होती है कि वो ऐसा क्या करें जिससे वो हमेशा खुश रहे। उन्हें दूसरों का दुख भी नहीं दिखता है और ना ही दूसरों की परेशानी में उनकी मदद करने के बारे में सोचते हैं। बाहरी दुनिया से उन्हें कोई मतलब नहीं होता है। [ये भी पढ़ें: दिमाग की शक्ति बढ़ाने के लिए अपनाएं कुछ टिप्स]

खुद की छवि को हमेशा बचाने की कोशिश करना:
हर किसी को दूसरों के सामने अपनी छवि बनाना चाहता है लेकिन जो लोग सेल्फ-ऑब्सेस्ड होते हैं वो अपनी छवि को बचाने के लिए कुछ भी कर सकते हैं चाहे उसके लिए उन्हें दूसरों को दुख ही क्यों ना पहुंचाना पड़े। उन्हें सिर्फ अपनी इमेज को बचाने की पड़ी होती है।

हमेशा अपनी सेल्फी लेना:
सेल्फी लेना हर किसी को पसंद होता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप हर वक्त अपनी सेल्फी लेते हैं। जो लोग सेल्फ-ऑब्सेस्ड होते हैं वो हर वक्त अपनी सेल्फी लेते रहते हैं और बार-बार उसे देखते हैं। बिना किसी वजह या ओकेजन के वो अपनी सेल्फी लेते रहते हैं।

रिश्ते को महत्व नहीं देना:
सेल्फ-ऑब्सेस्ड लोगों को सिर्फ अपनी खुशी से मतलब होती है, इस वजह से वो अपने किसी रिश्ते को महत्व नहीं देते हैं क्योंकि उन्हें इस बात का पता ही नहीं होता है कि रिश्ते जिंदगी के लिए कितने मायने रखते हैं। कई बार तो वो रिश्ते में धोखा भी दे देते हैं। [ये भी पढ़ें: आलोचना तारीफ से ज्यादा बेहतर क्यों होती है]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "