हाथों के सुन्न होने के पीछे हो सकते हैं ये कारण

Read in English
reasons your hands are going numb

हमारे हाथ शरीर के कुछ संवेदनशील चीजों से जुड़े होते हैं। यह तंत्रिकाओं के जुड़े होते हैं जो हमारे दिमाग से जुड़े होते हैं। उन तंत्रिकाओं में से एक भी तंत्रिका को नुकसान पहुंचता है तो उसका असर दिमाग पर पड़ता है। हमारे हाथों द्वारा भेजे किसी भी तरह के संकेत दिमाग को नहीं मिल पाते हैं। इस अवस्था में हाथ सुन्न होने लगते हैं। इसे कारपेल ट्यूनल सिड्रोंम कहते हैं। इस कंडीशन में मध्य नाड़ी जो फोरआर्म के नीचे काम करती है कलाई पर आकर रुक जाती है। जिसके पीछे कई कारण होते हैं। तो आइए आपको वह कारण बताते हैं जिनसे हाथ सुन्न होने की समस्या होती है। [ये भी पढ़ें: तो अब तक अपने दिमाग का गलत इस्तेमाल कर रहे थे आप]

1-एल्कोहल डिसऑर्डर:
लंबे समय से अगर आप एल्कोहल का सेवन करते हैं तो इससे तंत्रिकाएं नष्ट होने लगती है। यू.एस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की रिसर्च के मुताबिक जितने लोग अधिक मात्रा में एल्कोहल का सेवन करते हैं उनके साथ शरीर के कई हिस्सों के सुन्न होने की समस्या होती है। इसमें हाथ, पैर सुन्न हो जाते हैं और मसल्स, लिम्ब में झनझनाहट सी महसूस होती है।

2-लाइम डिजीज: यह बीमारी किसी कीड़े के काटने से होती है। लाइम के शुरुआती लक्षण थकावट, त्वचा पर निशान, बुखार, शरीर में दर्द होता है। लेकिन अगर इसका इलाज ना किया जाए तो इससे जोड़ें में दर्द, हाथ सुन्न होने की समस्या होना शुरु हो जाती है। [ये भी पढ़ें: कारण जो बताते हैं कि आपको एक मेंटल हेल्थ ब्रेक क्यों लेना चाहिए]

3-स्ट्रोक:
reasons your hands are going numbहाथ सुन्न होना, झनझनाहट होना स्ट्रोक के संकेत होते हैं। इसके साथ ही सही से ना दिखना, सोचने में समस्या होना स्ट्रोक के लक्षण होते हैं।

4-डायबिटीज: बार-बार पेशाब जाना, अधिक प्यास लगना ब्लड में शुगर का लेवल बढ़े होने के संकेत होते हैं। जब व्यक्ति को टाइप 2 डायबिटीज हो जाती है और उसका इलाज ना किया जाए तो उससे हाथों के सुन्न होने की समस्या शुरु हो जाती है। जिसका परिणाम यह होता है कि व्यक्ति को तंत्रिका के नष्ट होने से संबंधित डायबिटीज हो जाती है। [ये भी पढ़ें: खाने के बहुत ज्यादा शौकीन है तो आपको हो सकता है फ़ूड एडिक्शन]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "