second hand stress: संकेत कि आप दूसरों का तनाव ले रहे हैं

Indication that you are taking second hand stress

second hand stress: दूसरों की वजह से आपको तनाव होना हानिकारक होता है।

second hand  stress: तनाव का सामना जीवन में हर व्यक्ति को कभी ना कभी तो करना ही पड़ता है। अपने जीवन की परिस्थितियों और समस्याओं के चलते तनाव तो हर व्यक्ति को होता है लेकिन आजकल लोगों को तनाव दूसरों के तनाव के कारण भी होता है। इस तनाव को सेकेंड हैंड स्ट्रेस के नाम से जाना जाता है। किसी दूसरे व्यक्ति के कारण आपके दिमाग को प्रभावित करने वाली इन नेगेटिव वाइब्स के कारण आपको तनाव महसूस होता है जो कि आपके लिए समान रुप से हानिकारक होता है। कुछ संकेत बताते हैं कि आप सेकेंड हैंड स्ट्रेस का सामना कर रहे हैं, आइए जानते हैं इन संकेतों के बारे में।[ ये भी पढ़ें:  Eye care Tips: स्मार्टफोन की वजह से आंखों में होने वाले तनाव को कैसे दूर करें ]

 second hand  stress:  संकेत जो बताते हैं कि आप दूसरों का तनाव ले रहे हैं

  • आपको तनाव का कारण पता नहीं हैं
  • आप निराशावादी हो जाते हैं
  • आप काम करने में जल्दबाजी करते हैं
  • कैसे करें इस तनाव का सामना

1. आपको तनाव का कारण पता नहीं हैं-
आप तनाव में हैं, लेकिन आपको पता नहीं है कि आपके तनाव का कारण क्या होता है। आपके तनाव का कारण आपके काम का दबाव नहीं होता बल्कि किसी अन्य व्यक्ति के जीवन का तनाव होता है। यदि आप तनाव में है और कारण नहीं जानते तो आप दूसरों का तनाव ले रहे हैं।[ ये भी पढ़ें:  Relief From Stress: सकारात्मक रहकर तनाव दूर करने के लिए क्या करें ]

2. आप निराशावादी होते जा रहे हैं-

Indication that you are taking second hand stress
second hand stress: सेकेंड हैंड स्ट्रेस की वजह से आप निराशावादी बनते जाते हैं।

तनावग्रस्त लोग आपके जीवन की खुशियों को भी निराशा में बदल देते हैं। आपका दिमाग वातावरण के अनुसार सोचता है और नकारात्मक वातावरण में विचार भी नकारात्मक आते हैं। तनाव से परेशान लोगों के साथ रहने से आप सेकेंड हैंड स्ट्रेस लेते हैं और निराशावादी हो जाते हैं।

3.आप काम करने में जल्दबाजी करते हैं-
यह भी एक प्रकार का सेकेंड हैंड स्ट्रेस होता है जिसमें आप काम को पूरा करने के लिए जल्दबाजी करते हैं। काम को समय पर पूरा करने का दबाव आपको तनाव का शिकार बना देता है।

4. कैसे करें इस तनाव का सामना-
सेकेंड हैंड स्ट्रेस को कम करने के लिए आप सबसे पहले इस बात का ध्यान रखें कि क्यों और किस व्यक्ति की वजह से आपको तनाव हो रहा है। उसके बाद या तो उसे समझाकर उस व्यक्ति का तनाव कम करने की कोशिश करें और अगर ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो उससे दूरी बना लें।

[जरुर पढ़ें: मेडिटेशन आपकी सीखने की क्षमता को कैसे बढ़ाता है]

ये सभी संकेत बताते हैं कि आप दूसरों का तनाव लेकर खुद को दुखी कर रहे हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "