UP Board Result 2018: अच्छे मार्क्स ना आने पर अपने छोटे भाई-बहनों को कैसे सपोर्ट करें

Read in English
how-to-support-your-siblings-in-case-they-do-not-get-good-results-

बड़े भाई-बहन होने के नाते छोटे भाई-बहनों के करियर और भविष्य को लेकर चिंतित होना जायज होता है। बड़े होने के नाते आप भी यहीं चाहते है कि बोर्ड के एक्जाम में आपके छोटे भाई-बहन अच्छा प्रर्दशन करें और आगे चलकर डॉक्टर, इंजीनियर, एमबीए या अन्य उच्च शिक्षा प्राप्त करे। कभी-कभी रिजल्ट आपकी उम्मीद के अनुरुप नहीं आता। रिजल्ट खराब होने का मतलब ये नहीं होता कि जीवन की सारी उम्मीदें और अवसर खत्म हो चुके है और यह बात ही आपको अपने छोटे भाई-बहनों को भी समझानी होती है। इसलिए अगर आपके छोटे-भाई बहन परीक्षा में फेल हो जाते हैं तो उनका हौसला बढ़ाएं और उन्हें वापस पढ़ने के लिए प्रेरित करें। आइए जानते हैं कुछ टिप्स के बारे में जिनके माध्यम से आप अपने भाई-बहनों को मोटीवेट कर सकते हैं।

1.शांति से समझाएं: यह बच्चों पर गुस्सा करने का सही समय नहीं होता है क्योंकि अच्छे मार्क्स ना आने पर वे भी तनाव में होते हैं। यह आपकी जिम्मेदारी है कि उन्हें प्यार और शांति से समझाएं। उनके साथ बात करें और कारणों को ढूंढने की कोशिश करें जिसकी वजह से अच्छे मार्क्स नहीं आएं है।

2.प्रोत्साहित करें: छोटे भाई-बहनों के मार्क्स अच्छे ना आने पर आप अगर उन पर गुस्सा करते हैं तो वह उनके मस्तिष्क पर बुरा असर डाल सकता है। ये ना भूलें की इस समय उन्हें समय आपकी सबसे ज्यादा जरुरत है इसलिए उन्हें प्रोत्साहित करें ताकि वे फिर से मेहनत करने में जुट जाए।

3.पढ़ाई पर ध्यान लगाने में उनकी मदद करें: इस बार अगर आपके भाई-बहन के मार्क्स अच्छे नहीं आए हैं तो समझने की कोशिश करें की उन्होंने क्या गलती की है। साथ ही उन्हें फिर से पढ़ाई शुरु करने के लिए प्रोत्साहित करें और पढ़ने में उनकी मदद करें ताकि वे अगली बार अच्छे मार्क्स ला सके।

4.उनका मार्गदर्शन करें: अपने छोटे भाई-बहनों को अपना महत्वपूर्ण समय दें। अगर आप उनकी प्रोग्रेस पर ध्यान नहीं देते तो फिर कम मार्क्स लाने के लिए उन्हें दोष देना भी गलत है। इस बार आपको ज्यादा उन पर ज्यादा ध्यान देना पड़ेगा। उन्हें पढ़ाने में मदद करें जिससे वे कड़ी मेहनत करने को लेकर खुद में विश्वास ला जगा सके।

यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 के परिणाम जल्द ही घोषित किए जाएंगे। हर साल की तरह, इस साल भी बहुत से छात्रों ने यूपी बोर्ड कक्षा 10 और यूपी बोर्ड कक्षा 12 की परीक्षा दी हैं लेकिन पिछले साल के मुकाबले इस साल यूपी बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए छात्रों की संख्या बढ़ी है। यूपी बोर्ड 2018 की 12 वीं कक्षा के परिणाम के लिए 15 अप्रैल 2018 तारीख निर्धारित की गई है। 2018 में कक्षा 12वीं की परीक्षा में 26,24,681 छात्र शामिल हुए जो 6 फरवरी से 12 मार्च तक चली। साल 2017 में 12 वीं के 26,54,492 छात्रों ने परीक्षा दी थी।

यूपी बोर्ड 2018 कक्षा 10वीं की परीक्षा 6 फरवरी से शुरू होकर 22 फरवरी को खत्म हुई थी जिसमें लगभग 34,04,571 छात्रों ने एग्जाम दिए। साल 2017 में यूपी बोर्ड की कक्षा 10वीं के 3,40,1511 छात्रों ने परीक्षा दी थी। पिछले साल यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में लड़कों की तुलना में लड़कियों ने अच्छा स्कोर किया था। यूपी बोर्ड कक्षा 10 में 86.50 प्रतिशत लड़कियां पास हुई जबकि लड़कों में 76.75 प्रतिशत ने सफलता हासिल की। वहीं यूपी बोर्ड परीक्षा 2017 में कक्षा 12वीं में 77.16 प्रतिशत लड़कों ने सफलता हासिल की जबकि 88.80 प्रतिशत लड़कियां पास हुई।

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "