कभी-कभी ना कहना भी होता है जरूरी- जाने किसी को ना कैसे कहें

Read in English
How to say no to anyone

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें किसी को ना कहना नहीं आता है, जिस वजह से उन्हें कई बार परेशानियों का सामना करना पड़ता है। किसी को ना बोलना अच्छा नहीं लगता है, लेकिन आप अगर सबको हां बोलेंगे तो इसके कारण लोग आपका फायदा भी उठा सकते हैं, जिसका प्रभाव आपके जीवन पर बुरा पड़ सकता है। कई बार लोग आपसे उन कामों को करने के लिए मदद मांगते हैं जो वो खुद से भी कर सकते हैं। लेकिन उन्हें पता होता है कि आप ना नहीं बोलेंगे तो वो उस काम को आपसे करवाने की कोशिश करेंगे। अगर आपको नहीं पता है कि किसी को ना कैसे बोलते हैं तो आइए जानते हैं किसी को ना कैसे बोलते हैं। [ये भी पढ़ें: माइंडफुल एजिंग क्या होती है और आप इसे कैसे कर सकते हैं]

सबकी बातें मानने की आदत को छोड़े: अगर आप हर किसी की बात मानते हैं और सबको हर काम के लिए हां बोलते हैं तो आप ऐसा करना छोड़ दें। अगर आपको ये लगता है कि आप ना बोलेंगे तो सामने वाला आपके बारे में गलत सोचगा, तो इस भ्रम को अपने दिमाग से निकाल दें। अगर आप हर काम के लिए लोगों को हां बोलेंगे तो इससे आपका महत्व खत्म हो जाएगा और लोग बस आपका इस्तेमाल करेंगे। इसलिए कभी-कभी ना बोलना भी अच्छा होता है।

प्यार और सम्मान की भावना से सीधे ना बोल दें: अगर आप ना नहीं बोल पाते हैं तो आपको बोलना सिखना पड़ेगा। ऐसा नहीं है कि आप अगर किसी को ना बोलेंगे तो उसके मन में आपके लिए सम्मान कम हो जाएगा। बल्कि ना बोलना भी एक तरह का कला होता है। अगर आप किसी को प्यार से ना बोलेंगे और ना बोलने की वजह बताएंगे तो शायद वो इंसान आपकी बातों को समझेगा और आपकी बातों का बुरा भी नहीं मानेगा। [ये भी पढ़ें: अपनी भावनाओं को कैसे काबू में रखें]

ना बोलने के तरीकों को बदलें: अगर आप किसी के दबाव में आकर हां बोलते हैं तो आपको उसके कारण को पता लगाने की जरूरत है और साथ ही ये भी ध्यान रखने की जरूरत है कि आपके ना बोलने का तरीका क्या होना चाहिए। अगर आप सीधी तरह से ना नहीं बोल पाते हैं तो आपको कुछ ऐसी तरह से ना बोलने का तरीका ढूंढना पड़ेगा कि आप ना बोल दो और सामने वाला समझ भी जाएं।

जब कोई निवेदन करें तो पहले उसके बारे में सोचें: सबसे पहले निवेदन करने वाले के कारण के बारे में सोचें। अगर आपको लगता है कि उसका कारण सही है तो हां बोलें, लेकिन अगर आपको लगता है कि वो खुद से उस काम को कर सकता है तो आप ना बोल सकते हैं। उस वक्त आप ये मत सोचें कि ना बोलना से उस इंसान को ठेस पहुंचेगी। [ये भी पढ़ें: अपनी भावनाएं व्यक्त नहीं कर पाते हैं तो हो सकती है फ्लैट इफेक्ट की समस्या]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "