किसी के गुस्से का जवाब कैसे दें

how to react when someone is shouting at you in anger

ज्यादातर लोगों को गुस्सा आने के दौरान उनकी आवाज तेज हो जाती है। कुछ लोग प्रतिदिन इसी तरह से चिल्लाते हैं जिसकी वजह से जीवन में कभी ना कभी उनकों पछतावा होता है। गुस्सा करना या चिल्लाना किसी भी रिश्ते के लिए अच्छा नहीं होता है। इससे आप जीवन में सकारात्मक नहीं रह पाते हैं। जब आप पर रोजाना कोई चिल्लाता है तो वह एक तरह से भावनात्मक अत्याचार होता है और वह आप पर अपना हक जताना चाहते हैं। जिसकी वजह से व्यक्ति के जीवन पर गलत प्रभाव पड़ने लगता है। किसी के गुस्से का शिकार होने से बेहतर है कि आप उन चीजों का जवाब देना शुरु करें नहीं तो वह चीजें आप पर हावी होने लगती हैं। तो आइए आपको बताते हैं किसी के गुस्से का बिना गुस्सा किए कैसे जवाब दें। [ये भी पढ़ें: समाज के दबाव में भी कैसे पूरे करें अपने सपने]

शांत रहें और उनके गुस्से को ना बढ़ाएं: एक बात का ध्यान रखें जब कोई आप पर चिल्लाएं तो इसमें आपकी कोई गलती नहीं है लेकिन अगर आप उनके गुस्से की प्रतिक्रिया देंगे तो बात ऐसे ही बढ़ती जाएगी। इसलिए हमेशा शांत रहें ताकि परिस्थिति बदतर ना हो सके। परेशानियों को आराम से बात करके भी कम किया जा सकता है। जब भी किसी परेशानी का हल निकालें तो शांत रहें और धीमी आवाज में बात करें।

गुस्सा शांत करने के लिए इनकी हां में हां ना मिलाएं: अगर आप किसी व्यक्ति का गुस्सा शांत करने के लिए उनकी हां में हां मिलाते हैं तो उन्हें भविष्य में चिल्लाने के लिए अनुमति दे रहे होते हैं। इसलिए कभी भी किसी व्यक्ति को शांत करने के लिए उनकों हां ना बोले। इस तरह से आपको भविष्य में नुकसान पहुंच सकते हैं। इसके लिए उन्हें प्यार से समझाएं नाकि उनके गुस्से को उस समय कम करने के लिए हां नहीं कहें। [ये भी पढ़ें: क्यों होती है नींद में बोलने की समस्या और इसे कैसे दूर करें]

उस व्यक्ति से दूर रहें: एक बार जब उस व्यक्ति से शांत तरीके से बात करते हैं तो उसके बाद आपको उस व्यक्ति से थोड़े समय के लिए दूर हो जाना बेहतर होता है। क्योंकि आपको खुद को शांत करने के लिए भी कुछ समय की जरुरत होती है। उनके गुस्से का असर आप पर भी पड़ा होता है जिसे दूर करना जरुरी होता है। इसलिए चीजों को ठीक होने के लिए खुद थोड़ा समय लें और उस व्यक्ति से दूर हो जाएं।

भावनात्मक रुप से शांत हो जाने के बाद आप उनसे बात करें: इस परिस्थिति से बाहर निकलने के लिए खुद को समय देना जरुरी होता है। जब आप इससे बाहर आ जाए तो आप उस व्यक्ति से बात कर सकते हैं जिसने आर पर गुस्सा किया हो। अगर आप उस व्यक्ति से किसी काम की वजह से दूर नहीं रह सकते हैं तो उस दौरान आप गहरी सांस ले सकते हैं ताकि आप उनके गुस्से का खुद पर प्रभाव ना पड़ने दें। [ये भी पढ़ें: सोशल फोबिया को दूर करने के तरीके]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "