UP Board Result 2018: परीक्षा में फेल होने पर बच्चे को कड़ी मेहनत करने के लिए कैसे प्रेरित करें

Read in English
how to motivate your child to get success if he fails in exam

यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 के परिणाम जल्द ही घोषित किये जा सकते हैं। परिणाम का दिन जितना करीब आ रहा है, छात्रों के बीच तनाव और चिंता उतनी ही बढ़ रही है। बच्चों और उनके माता-पिता के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण समय है। हालांकि, माता-पिता को अपने बच्चे को प्रेरित करने का उद्देश्य चाहे क्या हो। सबसे खराब के लिए तैयार रहें, लेकिन उम्मीदें न खोएं आपका बच्चा किसी भी हालत में आपको अधिकतम सहायता चाहता है। इसलिए, उन पर दबाव डालना या उन्हें चिल्लाना न करें यदि आपका बच्चा अप बोर्ड परीक्षा 2018 में विफल रहता है, तो आपको थोड़ा रोगी होना चाहिए और आपके बच्चे की सहायता प्रणाली होना चाहिए। उन्हें अगली बार बेहतर करने के लिए प्रेरित करने की कोशिश करें।

उन्हें प्रेरित करें
इस स्थिति में उन पर चिल्लाएं नहीं। फेल होने की स्थिति में बच्चे को सबसे ज्यादा माता-पिता के सपोर्ट की जरुरत होती है। इसलिए ऐसे में आप उन्हें प्रेरित करें। पॉजिटिव एटीट्यूड रखें और अपने बच्चे को भी सकारात्मक रहने के लिए कहें।

उन्हें थोड़ा समय अकेले बिताने दे
रिजल्ट आने के तुंरत बाद उन पर गुस्सा होने के बजाय आप उन्हें थोड़ा समय अकेले बिताने दें। इससे वो खुद को इस स्थिति से निपटने के लिए तैयार कर पाएंगे। उन्हें निरीक्षण करने के लिए थोड़ा समय दें कि उनके फेल होने के पीछे क्या कारण रहा।

उन्हें सकारात्मक वातावरण दें
जब तक आप अपने बच्चे को सकारात्मक वातावरण नहीं देंगे तब तक अपनी असफलता को स्वीकार करके आगे नहीं बढ़ पाएगा। इसलिए बच्चे के चारों ओर ऐसा वातावरण बनाएं जिसमें वह सफलता की ओर बढ़ने के लिए खुद को तैयार कर सके।

उनका अपमान ना करें
हो सकता है कि आपके दोस्तों या रिश्तेदारों के बच्चों को अच्छे अंक मिले हो लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप अपने बच्चे का अपमान करें। हर एक बच्चा समान नहीं होता। धैर्य रखें और अपने बच्चे को सपोर्ट करें। उनका साथ दें और उन्हें इस परिस्थिति से निकलने में मदद करें।

यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 के परिणाम जल्द ही घोषित किए जाएंगे। हर साल की तरह, इस साल भी बहुत से छात्रों ने यूपी बोर्ड कक्षा 10 और यूपी बोर्ड कक्षा 12 की परीक्षा दी। लगभग 34,04,571 छात्रों ने यूपी बोर्ड 2018 कक्षा 10वीं की परीक्षा दी जो 6 फरवरी से शुरू होकर 22 फरवरी को खत्म हुई। दूसरी ओर, लगभग 26,24,681 छात्र यूपी बोर्ड 2018 कक्षा 12वीं की परीक्षाओं में शामिल हुए जो 6 फरवरी से 12 मार्च तक चली। यूपी बोर्ड 2018 की 12 वीं कक्षी के परिणाम के लिए 15 अप्रैल, 2018 तारीख निर्धारित की गई है।

पिछले साल के मुकाबले इस साल यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 में शामिल हुए छात्रों की संख्या बढ़ी है। साल 2017 में यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं के 3,40,1511 छात्रों ने परीक्षा दी थी, जबकि 12 वीं कक्षा के 26,54,492 छात्रों ने परीक्षा दी थी। पिछले साल यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में लड़कों की तुलना में लड़कियों ने बेहतर स्कोर किया था। यूपी बोर्ड कक्षा 10 में 86.50 प्रतिशत लड़कियां पास हुई जबकि लड़कों में 76.75 प्रतिशत ने सफलता हासिल की। वहीं यूपी बोर्ड परीक्षा 2017 में कक्षा 12वीं में 77.16 प्रतिशत लड़कों ने सफलता हासिल की जबकि 88.80 प्रतिशत लड़कियां पास हुई।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "